मामा की लड़की पर ऐसा मर मिटा साजिद कि अपनी अपनी ममेरी बहन के सुहाग को ही मिटा दिया..

देख बहिन में तुझसे बचपन से ही प्यार करता हूँ तथा तुझसे शादी करना चाहता हूँ, शादी के बाद तुम्हें यहीं पर जन्नत की सैर कराऊंगा. अपने ममेरे भाई साजिद के मुंह से ये शब्द सुनकर खुशनुमा हक्की बक्की रह गई. उसने साजिद को धक्का देते हुए कहा कि साजिद तुम मेरे भाई हो तथा में हमेशा से तुम्हें भाई ही बोलती आयी हूँ और तुम भी मुझे बहिन बोलते हो. तुम्हें शर्म नहीं आती जो अपनी बहिन के बारे में ऐसा सोचते हो, ये जानते हुए हुए भी कि परवेज के साथ मेरी शादी हो चुकी है. तुरंत निकल जाओ यहां से. जब साजिद को लगा कि वह अपनी ममेरी बहिन खुशनुमा से शादी नहीं कर सकता तो उसने अपने जीजा अर्थात खुशनुमा के पति परवेज की ह्त्या कर दी.

मामला उत्तराखंड के हरिद्वार के ज्वालापुर क्षेत्र का है.खबर के मुताबिक़, कोतवाली ज्वालापुर कैंपस में पत्रकारों से वार्ता करते हुए एएसपी रचिता जुयाल ने बताया कि तीन जुलाई को इस्लाम नगर निवासी जाकिर ने अपने चौहान मोहल्ला के रहने भांजे सोनू उर्फ परवेज की गुमशुदगी दर्ज कराई थी. परवेज पेशे वेल्डिंग का काम करता था. पुलिस की खोजबीन में उसका स्कूटर जटवाडा पुल के पास मिला था. सात जुलाई को मृतक के भाई शाहरुम ने हत्या का संदेह व्यक्त करते पुलिस को एक प्रार्थना पत्र दिया था. पुलिस की तफ्तीश के दौरान सीसीटीवी फुटेज में मोहल्ला पठानपुरा निवासी सादिक को सोनू के स्कूटर के पीछे बैठे देखा. एएसपी ने बताया कि देवबंद के रहने वाले सादिक को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई.

पुलिस के मुताबिक़, सख्ती बरतने पर सादिक ने बताया कि गांव रावली महदूद निवासी मौसेरे भाई साजिद कई साल से मृतक परवेज की पत्नी खुशनुमा से एक तरफा प्रेम करता था. वह खुशनुमा से निकाह करना चाहता था, लेकिन खुशनुमा ने उससे साफ़ इंकार कर दिया था. साजिद ने सोचा कि सोनू के रहते यह मुमकिन नहीं है. ऐसे में साजिद द्वारा सोनू की हत्या का प्लान बनाया गया. एएसपी के मुताबिक दो जुलाई की रात को साजिद हत्या के इरादे से सोनू को लेकर पुल जटवाडा पहुंचा और वहां पहले से ही मौजूद साजिद के ट्रक में सवार होकर तीनों ने शराब पी. नशा होने पर दोनों ने मिलकर गमछे से सोनू का गला दबाया और लोहे की रॉड से उस पर कई वार किए. सोनू की मौत का इत्मिनान होने पर उसके हाथ-पैर कपड़े से बांधकर शिवगुरु धाम आश्रम दौलतपुर के सामने गंगनहर में फेंक दिया. एएसपी ने बताया कि हाथ पैर बांधने में इस्तेमाल हुए कपड़े और सोनू का पर्स बरामद कर लिया गया है. सोनू का शव शनिवार को आसफनगर झाल से बरामद हुआ था.

Share This Post

Leave a Reply