हंगामे के बीच पलानिसामी ने साबित किया बहुमत, पक्ष में पड़े 122 वोट

चेन्नई : शशिकला की ओर से नियुक्त किए जाने के बाद सीएम पद की शपथ लेने वाले पलानिसामी ने तमिलनाडु विधानसभा में बहुमत हासिल कर लिया है। शनिवार को विश्वास मत से पहले मचे हंगामे की वजह से विपक्षी डीएमके और कांग्रेसी विधायकों को वोटिंग के वक्त बाहर रखा गया था।

बाद में स्पीकर ने पलानिसामी के बहुमत हासिल करने का ऐलान कर दिया। स्पीकर के मुताबिक, विश्वासमत के समर्थन में 122 वोट जबकि 11 ने इसके खिलाफ वोट दिया था। इससे पहले, सीक्रिट वोटिंग की मांग को लेकर विधायकों ने सदन में जमकर हंगामा किया, जिसकी वजह से सदन की कार्यवाही दो बार स्थगित करनी पड़ी।

शशिकला धड़े के विधायकों को छोड़कर एकजुट हुए सभी विपक्षी सदस्यों ने सीक्रिट वोटिंग के जरिए फैसला करने की मांग की। स्पीकर ने इस मांग को खारिज कर दिया, जिसके बाद जमकर हंगामा हुआ। हंगामे की शुरुआत तब हुई जब डीएमके विधायकों ने गुप्त मतदान की मांग करते हुए हल्ला मचाना शुरू कर दिया। कुछ विधायकों ने स्पीकर पी. धनपाल के साथ झूमाझटकी भी की। माइक और टेबलें तोड़ दी गईं।

इसके बाद मार्शल और पुलिस बुलाकर स्पीकर को सुरक्षित बाहर ले जाया गया। यह पहला मौका बताया जा रहा है जब सदन में पुलिस को बुलाना पड़ा। हंगामे के चलते कार्रवाई एक बजे तक स्थगित कर दी गई। कार्रवाई शुरू होते ही फिर हंगामा हुआ। इसके बाद डीएमके विधायकों को सदन से बाहर कर दिया गया। फिर भी विधायक शांत नहीं हुए, तो सदन तीन बजे तक स्थगित कर दिया गया।

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW