Breaking News:

सुरेश चव्हाणके जी के अथक प्रयासों से जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए अब आगे आई कांग्रेस भी. कांग्रेस नेता ने कहा- “बढती जनसंख्या ही है बेरोजगारी और मंदी की वजह”

जिस आवाज को राष्ट्र निर्माण संस्था के अध्यक्ष श्री सुरेश चव्हाणके जी ने प्रमुखता से उठा कर आंकड़ो और प्रमाणों के साथ पूरे भारत की यात्रा के दौरान कहा था अब उसको उठा रहा है राष्ट्र का शीर्षतम राजनैतिक अमला.. हिंदुस्तान की मूल सभ्यता तथा संस्कृति को बचाने के लिए “जनसंख्या नियंत्रण क़ानून” की जिस मांग के लिए राष्ट्र निर्माण संस्था के प्रमुख तथा सुदर्शन टीवी के चेयरमैन श्री सुरेश चव्हाणके जी संघर्ष कर रहे हैं, वो संघर्ष सफलता की ओर एक कदम और आगे बढ़ा है.

फर्जी पत्रकारों पर UP पुलिस का हल्ला बोल.. बाराबंकी पुलिस ने दबोचे 2 फर्जी पत्रकार जो शामिल थे उगाही जैसे कृत्य में

मोदी सरकार जनसंख्या नियंत्रण क़ानून बना सकती है, ये उम्मीदें शुक्रवार को उस समय और आगे बढ़ते हुई दिखाई दीं जब जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए अब तक विरोध में रही कांग्रेस पार्टी ने भी इसी मामले में मिला दिए हैं अपने सुर में सुर और राष्ट्र निर्माण संस्था के अध्यक्ष श्री सुरेश चव्हाणके जी के प्रयासों और बयानों से अपनी सहमित दिखाते हुए ये कहा है कि देश की तमाम बड़ी समस्याओं की जड में बेतहाशा बढती हुई आबादी है और इसको रोकने के प्रयास होने चाहिए .

अपनी बीबी से वैश्यावृत्ति करवाना चाहता था जलील शेख.. जब वो न मानी तो जल्लादों को भी मात दे गया दरिंदा

कान्ग्रेस की तरह से ये बयान देने वाले नेता है कांग्रेस की कद्दावर हस्ती श्री जितिन प्रसाद, जिन्होंने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण पर देशव्यापी चर्चा होनी चाहिए। देश में जनसंख्या की वजह से बेरोजगारी की संख्या बढ़ रही है। आर्थिक मंदी की समस्या उत्पन्न हो रही है। उन्होंने कहा कि सरकार को देश में जनसंख्या नियंत्रित करने के लिए कानून बनाया चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं सरकार से मांग करता हूं कि इस मुद्दे पर जो भी कानून लाने हैं, उन्हें लाया जाए।

अब तक कांग्रेस मुक्त भारत का एलान था, अब एक सूबा ऐसी मुक्ति का एलान कर रहा जो खौफ है बाकी पार्टियों के लिए

कांग्रेस के कद्दावर नेता जितिन प्रसाद ने सुरेश चव्हाणके जी के तमाम प्रयासों को परोक्ष रूप से समर्थन करते हुए कहा है कि अर्थव्यवस्था कम हो रही है और बेरोजगारी बढ़ रही है। जिसकी वजह जनसंख्या बढ़ोतरी है। जनसंख्या नियंत्रण में नहीं है। उन्होंने कहा कि न केवल देश की अर्थव्यवस्था बल्कि पर्यावरण, जल संकट, प्राकृतिक संसाधनों पर दबाव की वजह भी देश की बढ़ती जनसंख्या है। कांग्रेस नेता के इस बयान के बाद देश में इस मामले में आम सहमति बनती दिखाई दे रही है .

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

Share This Post