सुरेश चव्हाणके जी के प्रयासो की गूँज अब लाल कोट से भी .. प्रधानमन्त्री ने माना कि- “जनसंख्या विस्फोट की चिंता करनी ही होगी”

हिंदुस्तान की मूल सभ्यता तथा संस्कृति को बचाने के लिए “जनसंख्या नियंत्रण क़ानून” की जिस मांग के लिए राष्ट्र निर्माण संस्था के प्रमुख तथा सुदर्शन टीवी के चेयरमैन श्री सुरेश चव्हाणके जी संघर्ष कर रहे हैं, उनके संघर्ष को बड़ी सफलता मिली है. भारत बचाओ यात्रा के बाद देशभर से जनसंख्या नियंत्रण क़ानून की मांग के लिए आवाज तेज हुई है तथा ये मांग अब राष्ट्रव्यापी मांग बन चुकी है लेकिन अभी तक जनसंख्या नियंत्रण कानून नहीं बनाया गया है.

मोदी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल में प्रवेश कर चुकी है, इसलिए अब जरूरी है कि देश में बढ़ती हुई जनसंख्या पर लगाम लगाया जाए तथा जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाया जाए और उस दिशा में बड़ी सफलता तब मिलते दिखाई दी जब आज स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल कोट से भारत के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी जी ने बढती बेतहाशा आबादी पर चिंता करते हुए जनसंख्या को विस्फोट बताते हुए इसको नियंत्रित करने के प्रयास करने वालों की सराहना करते हुए कहा कि इस के लिए और अधिक राष्ट्रव्यापी जनजागरूकता की जरूरत है..

प्रधानमन्त्री मोदी जी ने कहा कि सिर्फ उतने ही सन्तान पैदा करने चाहिए जितने का पालन पोषण सही ढंग से किया जा सके .. लाल कोट से देश और दुनिया को सम्बोधित करते हुए उन्होंने बताया कि देश के संसाधनो का सही ढंग से सदुपयोग हो उसका अनुपात सही होना चाहिए .. मोदी जी के इस अभिभाषण के बाद अब ये माना जा रहा है कि सुरेश चव्हाणके जी द्वारा शुरू की गई एक बेहद जरूरी अलख सत्ता के शीर्ष के संज्ञान में है और जल्द ही इस पर कडा कानून बनने की सम्भावना है .

इस से पहले भी सुरेश चव्हाणके जी द्वारा छेड़े गये इस महाभियान में कई हस्तियाँ शामिल हो चुकी हैं . इस कानून के लिए भारत भर की प्रदक्षिणा में और इसी के लिए आयोजित कई जनसंसद में कई केन्द्रीय मंत्री, सत्ता पक्ष तथा विपक्ष के कई सांसद, प्रांतीय मंत्री वरिष्ठ सैन्य अधिकारी, शीर्ष वैज्ञानिक, समाज सेवक, धर्म गुरु, समाज के प्रबुद्ध लोग तथा आम जनता सहभागी हो चुके हैं और सबने एक स्वर में इसको देश के लिए सबसे बड़ी और प्रमुख जरूरत माना है .


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share