Breaking News:

हिज़ाब पहन कर नहा रहे मुस्लिमों को स्वमिंग पुल से बाहर निकाल दिया गया अमेरिका में …

जिस प्रकार से संसार में मजहबी कट्टरता बढ़ रही है ठीक उसी तरह से उनके खिलाफ नफरत भी बढ़ी है और अब उसके चलते उन तमाम को भी समस्या झेलनी पड़ रही है जिन्होंने कोई गलती नहीं की है .. फिलहाल एक वेशभूषा और विचारधारा के खिलाफ समाज में तेजी से बढ़ रही है नफरत और देखा जा रहा है उन्हें तिरस्कृत नजर से जिसमे न सिर्फ यूरोप बल्कि तमाम अन्य देश भी शामिल हो रहे हैं जिसमे अमेरिका जैसा उच्च शिक्षित देश भी शामिल है . 

ज्ञात हो कि एक मामले को अंतर्राष्टीय मामला तब बनाने का प्रयास किया गया जब अमेरिका के डेलावेयर राज्य के सार्वजनिक स्विमिंग पूल में कुछ मुस्लिम बच्चों और उनकी कोच को बाहर निकाल दिया गया. इसका कारण बतया गया कि उन्होंने हिजाब पहन रखा था जिसे अमेरिकी सम्बन्धित अधिकारी सुरक्षा की दृष्टि से सही नहीं मान रहे थे .. वर्तमान समय की गर्मियों में अरबी संवर्द्धन कार्यक्रम चलाने वाली तहसीन ए. इस्माइल ने डेलावेयर ऑनलाइन को बताया कि वह चार वर्षों से बच्चों को फोस्टर ब्राउन पब्लिक स्विमिंग पूल में ले जाती हैं लेकिन इस बार उन्हें वहां कुछ समस्याएं उठानी पड़ीं.

मीडिया सूत्रों से आ रहे समाचार के अनुसार मुस्लिम बच्चे स्विमिंग पूल में कमीज, छोटे पैन्ट और हिजाब पहने हुए थे. उन्होंने कहा कि स्विमिंग पूल प्रबंधक ने उन्हें सूचित किया कि सार्वजनिक स्विमिंग पूल में सूती के कपड़े पहनने की अनुमति देना नगर की नीति के खिलाफ है. इस्माइल का दावा है कि यह नियम ” कभी लागू नहीं किया गया. ” दारूल अमाना एकेडमी की मालिक और प्रिंसिपल इस्माइल का मानना है कि पिछले पांच वर्षों से वह और उनके बच्चे धार्मिक कट्टरता और भेदभाव के शिकार रहे हैं.   

Share This Post