Breaking News:

बांधकर बलात्कार किया और बोला- “जल्द कबूल कर ले इस्लाम, वरना इज्जत तो गयी ही, अब जान भी जायेगी”


एक विधवा महिला को झांसे में लेकर फिरोज ने उसे आपने पास बुलाया तथा फिर उसके साथ तालिबानी क्रूरता के साथ बांधकर 4 दिनों तक बलात्कार किया. बलात्कारी फिरोज एक वकील का मुंशी बताया जा रहा है. विधवा महिला केरल की रहने वाली है तथा फिरोज ने उत्तराखंड के रूडकी में घर में बंधक बनाकर 4 दिन तक बलात्कार किया. किसी तरह चंगुल से मुक्त होकर पुलिस के पास पहुंची महिला ने आपबीती सुनाई. पुलिस ने महिला की तहरीर पर आरोपी मुंशी के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुलिस ने इस मामले में एक अधिवक्ता समेत तीन महिलाओं के खिलाफ भी धमकी देने व फैसले का दबाव बनाने पर केस दर्ज किया है. पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी के लिए घर पर दबिश दी, लेकिन वह हत्थे नहीं चढ़ पाया.

रुड़की पुलिस के अनुसार करीब डेढ़ वर्ष पूर्व केरल के त्रिशूर जिले की महिला की मंगलौर निवासी फिरोज से फेसबुक पर दोस्ती हुई थी. दोस्ती होने के बाद दोनों ने एक दूसरे को मोबाइल नंबर ले लिए. इसके बाद दोनों की बातचीत शुरू हुई. फिरोज ने महिला को शादी का झांसा देकर रुड़की बुलाया.5 दिन पूर्व महिला रुड़की पहुंची तो युवक ने उसे एक परिचित के होटल में ठहराया. आरोप है कि महिला ने शादी करने की बात कही तो उसपर धर्मपरिवर्तन का दबाव बनाया गया. महिला के इंकार करने पर युवक ने होटल में ही उसे बंधक बनाकर दुष्कर्म किया.  इस बीच युवक ने महिला को दोबारा झांसा देकर केरल जाकर उससे शादी की बात कही. फिरोज महिला को लेकर दिल्ली की ट्रेन में बैठ गया, लेकिन ट्रेन के चलते ही नीचे उतर गया. फिरोज को उतरता देख महिला भी ट्रेन से कूद गई. इसके बाद वह दोबारा महिला को होटल ले आया और बंधक बनाकर रखा.

पीड़िता ने पुलिस को बताया है कि इस बीचयुवक ने अपने परिचितों को भी बुला लिया और महिला पर पैसे लेकर फैसला करने का दबाव बनाया।. इस बीच मौका पाकर महिला होटल से निकलकर सिविल लाइंस कोतवाली पहुंची और पुलिस को आपबीती सुनाई. एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि महिला की तहरीर पर मंगलौर निवासी फिरोज के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर लिया है, साथ ही धमकाकर फैसले का दबाव बनाने के मामले में एक अधिवक्ता समेत तीन महिलाओं पर भी केस दर्ज किया है.  उन्होंने बताया कि फिरोज एक अधिवक्ता के पास मुंशी का काम करता है. आरोपी फिरोज की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है.  


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...