लडकियों के पास सिर्फ दो रास्ते थे, पहला नंबर कटाना, दुसरा इज्जत लुटाना… क्योंकि एग्जामनर सादत बशीर ने राखी थी यही शर्त

प्रोफेसर सादत बशीर ने छात्राओं से कहा कि आपको नंबर कटवाने हैं या इज्जत लुटवानी है. अगर पास होना है तो अपना शरीर मुझे सौंपना पड़ेगा तथा अगर ऐसा नहीं करोगी तो फेल होने को तैयार हो जाओ. इस तरह प्रोफेसर सादत बशीर ने 80 छात्राओं की इज्जत को तार-तार कर दिया. ये आरोप पाकिस्तान के इस्लामाबाद मॉडल कॉलेज के शिक्षक प्रोफेसर सादत बशीर पर इस्लामाबाद में करीब एक दर्जन से ज्यादा कॉलेज छात्राओं ने फेडरल बोर्ड ऑफ इंटरमीडिए ऐंड सेकंडरी एजुकेशन की तरफ से भेजे गए एग्जामिनर पर यौन दुर्व्यवहार का आरोप लगाया है.

पाकिस्तानी अखबार ‘डेली पाकिस्तान’ और ‘डॉन न्यूज’ के मुताबिक, ये आरोप इस्लामाबाद मॉडल कॉलेज में टीचर सादत बशीर पर लगा है. आरोपों के मुताबिक यह मामला पाकिस्तान के प्रतिष्ठित बहरिया कॉलेज के बायॉलजी प्रैक्टिल के दौरान का है. सादत बशीर पर प्रैक्टिल के दौरान लड़कियों को गलत तरीके से छूने, टटोलने का आरोप है. जिन लड़कियों ने इस बात का विरोध किया, उसे सादत बशीर ने नंबर कम देने की धमकी देकर चुप करा दिया था. उन 80 पीड़ित लड़कियों में एक लड़की ने सोशल मीडिया पर अपना दर्द बयां किया है. उसने पूरा वाक्या बताते हुए पोस्ट किया, ‘शनिवार (26 मई) को हमारा बायॉलजी HSC पार्ट 2 का प्रैक्टिकल चल रहा था. प्रैक्टिकल परीक्षा तीन अलग-अलग ग्रुप में हुआ था. पहले ग्रुप का प्रैक्टिकल शुक्रवार को, दूसरे का शनिवार को और तीसरे ग्रुप का प्रैक्टिकल रविवार को हुआ. पहले ग्रुप ने हमें बता दिया था कि एग्जामिनर बहुत सख्त हैं, टीचर्स की नहीं सुनते. वह शिक्षकों को लैबरेटरी के अंदर तक नहीं आने देते. प्रैक्टिकल के दौरान उन्होंने कई लड़कियों को जांघों के बीच छुआ तो कुछ को पीछे और कुछ लड़कियों के तो ब्रेस्ट तक को हाथ लगाया.’

छात्रा ने आगे अपने पोस्ट में लिखा, प्रैक्टिकल के दौरान उन्होंने मुझे भी दो बार छुआ. पहली बार जब मैं मॉडल की पहचान के लिए गई तो, उसने पहले मेरे कूल्हे छुए. मैं दोबारा स्लाइड्स बनाने गई तो वह पहले मेरे पीछे आए और मेरी ब्रा की स्ट्रैप छूने लगे. छात्र ने आगे लिखा, तीसरी बार जब मैं प्रैक्टिकल में मेंढक की चीड़फाड़ कर रही थी, तो मेरे पास आए और पूछा यह मेढ़क नर है या मादा. मैंने जवाब दिया, यह नर मेंढक है. इसके बाद उन्होंने बेहद बेकार तरीके से जवाब दिया कि यह मादा मेंढक है, क्या तुमको इसके अंडाशय नहीं दिख रहे. यह तुम्हारे अंदर भी हैं. ये सुन मैं एकदम घबरा गई और मुझे कुछ समझ नहीं आया कि मैं क्या करूं. छात्रा ने आगे लिखा, उसने कई लड़कियों के साथ ऐसा किया. लेकिन हम से किसी ने कुछ इसलिए नहीं कहा क्योंकि वह बार-बार नंबर कम देन की धमकी दे रहा था. हम सबने चुपचाप इसकी हरकतों को बर्दाश्त कर लिया. इस एक लडकी के सामने आने के बाद कई लडकियों ने सादत बशीर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया तथा अपनी अपनी आप बीती बताई.

Share This Post