सुदर्शन न्यूज स्थापना दिवस विशेष- जानिये सुरेश चव्हाणके जी के अथक और कठिन संघर्ष के बारे में और सुदर्शन न्यूज के अडिग सिद्धांत

बाल्यकाल से ही राष्ट्र और धर्म प्रेम की शिक्षा से ओत प्रोत , एक राष्ट्रवादी कुल मे जन्मे सुरेश चव्हाणके जी, जिन्हे बचपन से ही अपने धर्म की चिंता थी… किशोरावस्था मे राष्ट्रवादी छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का नेतृत्व किया …. अन्याय , अत्याचार , भ्रष्टाचार के विरुढ़ सदा से एक बुलंद आवाज़ बनने की प्रेरणा ने उन्हे सर्वथा विषम हालात मे भी एक न्यूज चैनल खोलने के लिए प्रेरित किया जो बाद मे धर्म और राष्ट्र की एक बुलंद आवाज़ सुदर्शन न्यूज के रूप मे सामने आई ..

भारत वर्ष और हिंदू धर्म की सर्वाधिक विषम परिस्थियों मे विशुद्ध राष्ट्रवाद और कठोर धार्मिक सिद्धांतों पर खड़ा हुआ हिंदुत्व को समर्पित एक प्रबल समूह जो तत्कालीन समय की प्रत्येक बाधाओं को राष्ट्रप्रेमी हिंदुओं के सहयोग और ईश्वर की कृपा से समाज मे राष्ट्र और धर्म रक्षा मे अपनी उपयोगिता को अल्प समय मे सिद्ध कर के दिखाया …  दूसरे शब्दों मे धर्म और राष्ट्र को समर्पित तुष्टिकरण, भ्रष्टाचार से परे वो मजबूत आवाज़ जिस मे तथ्यों को उनके वास्तविक स्वरूप मे निडरता और निर्भीकता से प्रस्तुत किया जाता है ….

आज सुदर्शन न्यूज नित नए आयामो को हासिल करते हुए राष्ट्र और धर्म की रक्षा के लिए अपना सर्वव्य न्योछावर करते हुए राष्ट्र की सभी सत्यकर्म और सत्चरित्र शक्तियों के साथ आगे बढ़ रहा है . तमाम बाधाओ और विकट संकटों को पार करते हुए , आये इन मजहबी उन्मादियो की कट्टरता का माकूल जवाब देते हुए सुदर्शन न्यूज अटल और अडिग है अपने सिद्धांत और नियमो पर.. राष्ट्र सर्वोपरि के उसके नियम से आज तक उसको कोई विचलित नहीं कर पाया और आगे भी इसी अमिट सिद्धांत पर अग्रसर रहने का संकल्प है .

 

Share This Post