Breaking News:

38 अनाथ बच्चों को गोद लेकर व भगवान अयप्पा के दर्शन कर के सुरेश चव्हाणके जी मनाएंगे अपनी दिवाली… दिल्ली से हजारों किलोमीटर दूर धर्म के लिए संघर्ष


प्रभु श्रीराम के स्वागत स्वरूप दीपोत्सव के पावन पर्व दिवाली की पूरे देश में धूम मची हुई है. हर कोई दीवाली अपने तरीके से मनाने की तैयारों में जुटा है. ऐसे में हमेशा धर्म हित तथा मानवता के कार्यों के लिए आग्रिम पंक्ति में खड़े रहने वाले राष्ट्र निर्माण संस्था के संस्थापक तथा सुदर्शन टीवी के चेयरमैन श्री सुरेश चव्हाणके जी ने दीवाली के पर्व को अनोखे अंदाज में मनाने का संकल्प लिया है. श्री सुरेश चव्हाणके जी केरल के सबरीमाला मंदिर में भगवान अयप्पा के दर्शन कर तथा 38  अनाथ बच्चों को गोद लेकर दिवाली मनाएंगे.

आपको बता दें कि सुदर्शन टीवी के चेयरमैन श्री सुरेश चव्हाणके जी इस समय केरल में हैं. कल 4 नवम्बर को वह केरल पहुँच चुके हैं. आज जब पवित्र सबरीमाला मंदिर के कपाट खुलेंगे तब श्री सुरेश चव्हाणके जी मंदिर जाकर पूजा पाठ करेंगे तथा भगवान अयप्पा के दर्शन करेंगे. इसके साथ ही श्री सुरेश चव्हाणके जी 38 अनाथ बच्चों को गोद लेंगे तथा उनको नई जिन्दगी देंगे. श्री सुरेश चव्हाणके जी ने कहा है कि दीपावली केवल दीप जलाने मात्र का त्यौहार नहीं है बल्कि दीप जलाने के साथ साथ-साथ खुशियाँ बांटने का त्यौहार है.

श्री सुरेश चव्हाणके जी ने कहा कि दीपावली के पावन पर्व पर उन्होंने 38 बच्चों को गोद लेने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि इन बेसहारा बच्चों की जिम्मेदारी अब वह उठाएंगे. श्री सुरेश चव्हाणके जी के इस कार्य की देशभर के लोगों ने सराहना की है तथा उनका धन्यवाद किया है. लोगों का कहना है कि दीपावली पर 38 बच्चो को एक नई जिंदगी दे कर श्री सुरेश वास्तव में श्रीराम का कार्य करने जा रहे हैं. श्री सुरेश चव्हाणके जी ने कहा कि इन बच्चों पर ईसाई मिशनरियों की नजर थी लेकिन वह ऐसा नहीं होने देंगे. श्री सुरेश चव्हाणके जी ने कहा कि धर्म रक्षार्थ वह तथा सुदर्शन परिवार हमेशा आगे  आकर संघर्ष करता रहा है तथा आगे भी धर्म को बचाने के लिए जो भी करना पड़ेगा, वह करेंगे क्योंकि अगर हम धर्म को बचायेंगे तो धर्म हमें बचाएगा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...