1 जनवरी को संसार के सबसे ज्यादा बच्चे पैदा होंगे भारत में, पूरी दुनिया का 18 % . संयुक्त राष्ट्र ने भी सुरेश चव्हाणके जी के दावों पर लगाई मुहर


निसंदेह देश में तेजी से बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण काफी अधिक समस्याएं उत्पन हो रही हैं. इसी लिए राष्ट्र निर्माण के अध्यक्ष तथा सुदर्शन न्यूज़ के चेयरमैन श्री सुरेश चव्हाणके जी देश में जनसंख्या नियन्त्रण कानून की मांग को लेकर कश्मीर से कन्याकुमारी से दिल्ली के बीच 20 हजार किलोमीटर की भारत बचाओ यात्रा ले कर निकले थे .  ये यात्रा 18 फरवरी को जम्मू से शुरू हो कर २२ अप्रैल को दिल्ली में समाप्त हुई थी .. राष्ट्र निर्माण की इस यात्रा को पूरे देश का समर्थन मिल रहा है तथा दुनिया की शीर्ष शक्तियाँ भी अब उनकी हर बात से परोक्ष रूप से सहमत हो रही हैं .  अब सुरेश जी द्वारा बताये गये तमाम तथ्यो को खुद से कहा है संयुक्त राष्ट्र संघ ने जिसने एक इशारा किया है आने वाले खतरे का ..

21वीं सदी में भारत के सबसे अधिक आबादी वाला देश बन जाने का संयुक्ता राष्ट्र का अनुमान सच साबित होता दिख रहा है। खबर है कि आज 1 जनवरी 2019 यानी नए साल के दिन भारत में कुल 69,944 बच्चों का जन्म हो सकता है। ये एक दिन में पूरे विश्व में पैदा होने वाले बच्चों का 18 प्रतिशत है। ये आंकड़ा संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी किया गया है। इसमें चीन के लिए नए साल पर 44,940 और नाइजीरिया के लिए 25,685 बच्चों के जन्म का आंकड़ा बताया गया है।

इस सूची ने चौथे नंबर पर 15,112 बच्चों के जन्म के साथ पाकिस्तान है, इसके बाद 13,256 बच्चों के जन्म के साथ इंडोनेशिया पांचवें, फिर 1,086 बच्चों को साथ अमेरिका, 10,053 के साथ कांगो और 8,428 बच्चों के साथ बांग्लादेश आठंवे नंबर पर है।इस रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए यूनिसेफ की भारतीय प्रतिनिधि यासमीन अली हाकी ने कहा कि आज न्यू ईयर का दिन है। आइये मिलकर बेटी और बेटों को उनका हक दिलाने की शपथ लें। इसे जीने के हक से शुरु करते हैं। बता दें कि 1.3 अरब लोगों वाला भारत दुनिया का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है।

[phando-video media = 5c2a1b42d70e7]

 

 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share