जन्मदिन है आज हिन्दू हृदय सम्राट कहे जाने वाले योगी आदित्यनाथ का.. राष्ट्र दे रहा है शुभकामनाएं

ये कहने में ज़रा सा भी अतिशयोक्ति नहीं होगी कि वर्तमान समय में भारत के सबसे बड़े हिंदुत्व ब्रांड हैं श्री योगी आदित्यनाथ जी . उस समय जब तथाकथित धर्मनिरपेक्षता की आंधी में भारत के तमाम तथाकथित राजनेता चला रहे थे तो उस समय योगी आदित्यनाथ और बाला साहब ठाकरे जैसे ही कुछ ऐसे नाम थे जिन्होंने हिंदुत्व के चिराग को जलाए रखा था और सीना ठोंक कर कहते रहे कि हां , वो हिन्दू हैं .. ये वो योगी हैं जिन्होंने विपरीत से भी विपरीत हालात में भी अपने तन से भगवा नहीं उतारा और जनता इनके कार्यों को देखती रही .. आज भरत के हिंदुत्व के उसी सबसे बड़े नाम योगी आदित्यनाथ जी का जन्मदिवस है जो वर्तमान में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं .

योगी आदित्यनाथ को आज के समय में कौन नहीं जानता, उन्होंने इसी वर्ष मार्च के माह में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की। वह गोरखपुर विधानसभा से 1998 के बाद से संसद सदस्य रहे हैं। उन्होंने हिंदू युवा वाहिनी, संगठन की भी स्थापना की।योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के 2017 विधानसभा चुनावों में से एक प्रमुख भाजपा स्टार प्रचारक थे। मार्च 2017 में, विधानसभा चुनावों में भाजपा के जीतने के बाद वो जनता की मांग पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। सत्ता में आने के बाद, उसने उत्तर प्रदेश के सरकारी कार्यालयों में तम्बाकू, पैन और गुटका पर प्रतिबंध लगा दिया और राज्य में नकल विरोधी दस्ते बनाए। गाय तस्करी की तस्करी के साथ अवैध कत्लखाने बंद करवाए . इतना ही नहीं ,प्रदेश में दंगे और मजहबी उन्माद को कड़ाई से कुचला .. भाजपा के अन्दर समन्वय बनाने में भी योगी की बड़ी भूमिका रही और सबको एक सूत्र में पिरोया . ,

हिन्दुत्व के प्रति अगाध प्रेम तथा मन, वचन और कर्म से हिन्दुत्व के प्रहरी योगीजी को विश्व हिन्दु महासंघ जैसी हिन्दुओं की अन्तर्राष्ट्रीय संस्था ने अन्तर्राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तथा भारत इकाई के अध्यक्ष का महत्त्वपूर्ण दायित्व दिया, जिसका सफलतापूर्वक निर्वहन करते हुए आपने वर्ष 1997, 2003, 2006 में गोरखपुर में और 2008 में तुलसीपुर (बलरामपुर) में विश्व हिन्दु महासंघ के अन्तर्राष्ट्रीय अधिवेशन को सम्पन्न कराया। सम्प्रति आपके प्रभामण्डल से सम्पूर्ण विश्व परिचित हुआ। योगी आदित्यनाथ जो मुख्यमंत्री होने के साथ साथ गोरखपुर के प्रचलित, गोरखपुर मंदिर के महंत भी हैं, का असली नाम अजय सिंह बिष्ट है। इनका जन्म उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल ज़िले के पंचुर गाँव में एक राजपूत परिवार में हुआ। इनके पिता एक फारेस्ट रेंजर थे जिनका नाम आनंद सिंह बिष्ट है और उनकी माता सावित्री देवी एक गृहिणी हैं। अपने सात भाई बहनों में ये पांचवें हैं। इनके अतिरिक्त इनकी तीन बहनें और तीन भाई और हैं …

महज 26 साल की उम्र में गोरखपुर से भाजपा प्रत्याक्षी के रूप में चुनाव लडे और गोरखपुर के सांसद बने| “अजय सिंह बिष्ट” से बदलकर “योगी आदित्यनाथ” बनने के बाद अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए हिन्दू संरक्षण के लिए योगी आदित्यनाथ ने साल 2002 में “हिन्दू युवा वाहिनी” नाम से एक संगठन बनाया और लव जिहाद व् धर्म परिवर्तन के खिलाफ एक ज़ोरदार मुहीम चलाई, जिसके कारण उत्तरप्रदेश के राजनेतिक गलियारे में योगी आदित्यनाथ का कद लगातार बढ़ता जा रहा था| जिसके बाद महंत अवैद्यनाथ ने योगी आदित्यनाथ को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया, जिसके बाद योगी आदित्यनाथ जी तीसरी बार गोरखपुर के सांसद बने| श्री योगी आदित्यनाथ जी ने 1998 में 12 वीं लोकसभा चुनाव में निर्वाचित होने के बाद सबसे कम उम्र के सांसद बनकर इतिहास बना लिया। वह सिर्फ 26 साल के थे तब वह गोरखपुर निर्वाचन क्षेत्र से सीधे संसद के लिए में चुने गए.. लोक सभा में योगी की उपस्थिति 77% में सबसे अधिक है और उन्होंने 56 बहस में भाग लिया और 284 प्रश्न पूछे और 16 वीं लोकसभा के दौरान तीन निजी सदस्य विधेयक पेश करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

खाद्य मंत्री का प्रोफ़ाइल रखने के साथ ही वह लगभग 36 मंत्रालयों की देखभाल कर रहे हैं, जिनमें गृह, आवास, राजस्व, खाद्य और नागरिक आपूर्ति, खाद्य सुरक्षा और नशीली दवा प्रशासन, टिकट और रजिस्ट्री, शहर और देश नियोजन विभाग, अर्थशास्त्र और सांख्यिकी शामिल हैं। , खानों और खनिजों, बाढ़ नियंत्रण, सतर्कता, जेल, सामान्य प्रशासन, सचिवालय प्रशासन, कर्मियों और नियुक्ति, सूचना, संस्थागत वित्त, योजना, शहरी भूमि, संपत्ति विभाग, यूपी राज्य पुनर्गठन समिति, प्रशासन सुधार, कार्यक्रम क्रियान्वयन, राहत और पुनर्वास, राष्ट्रीय एकीकरण, किराया नियंत्रण, बुनियादी ढांचे, समन्वय, भाषा, बाहरी सहायता प्राप्त परियोजना, लोक सेवा प्रबंधन, उपभोक्ता संरक्षण, वजन और उपाय जैसे कार्य शामिल हैं। आज 5 जून को श्री योगी आदित्यनाथ जी के जन्मदिवस की ढेरों शुभकामनाये देते हुए सुदर्शन परिवार उनके हिंदुत्व और राष्ट्र की रक्षा के लिए किये कार्यो को जन जन तक पहुचाने का संकल्प लेता है


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share