महाशिवरात्रि आज, देश भर के शिव मंदिरों में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

नई दिल्ली : आज महाशिवरात्रि है। फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाया जाने वाला महाशिवरात्रि का त्यौहार हमारे देश में शिव-पार्वती विवाह के रूप में जाना जाता है। इस दिन सभी भक्तगण विधि -विधान से भगवान शिव का अभिषेक करते हैं और उन्हें विभिन्न वस्तुएं चढ़ाते हैं। 
आज का दिन शिव भक्तों के लिए बहुत अहम है। आज सभी शिवालय और मंदिर के कपाट खुल गए हैं, मंदिरों को फूलों से सजाया गया है। शुक्रवार को सुबह साढ़े चार बजे से ही मंदिरों के कपाट खुल गए हैं। दिल्ली, धनबाद के देवघर, काशी और यूपी के कई मंदिरों में शिव भक्तों का शैलाब उमड़ने लगा है। 
महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव को जल चढ़ाने और गाय के दूध से अभिषेक करने से भक्त के सभी संकट दूर होते हैं। शिवलिंग पर बेलपत्र और धतूरा चढ़ाने से मां लक्ष्मी की भी कृपा प्राप्त होती है। सारा दिन निराहार रहकर रात को भगवान शिव की चार प्रहर की पूजा करने का विधान है। भगवान शिव का रुद्राभिषेक देर रात तक चलता है। 
ज्योतिषों की मानें तो इस बार महाशिवरात्रि पर भक्तों के लिए शुभ संयोग बन रहा है, जिससे भगवान शिव का पूजन विशेष फलदायी होगा। बम भोले के उद्घोष के साथ भगवान भोले नाथ का जलाभिषेक हो रहा है वहीं हजारों कांवड़ियों ने गंगा से जल भरकर शिवालयों में जलाभिषेक के लिए कूंच कर दिया है। 
धार्मिक ग्रंथों के अनुसार महाशिवरात्रि का पौराणिक महत्व है। भक्तों का मानना है कि महाशिवरात्रि के दिन भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना, उपवास, जलाभिषेक करने से मनोकामना पूर्ण होती हैं। घर में सुख शांति आती है। भगवन शिव तो भोले भंडारी हैं तथा सच्चे मन से यदि भक्त जल भी चढ़ा दे तो प्रसन्न हो जाते हैं। इस महाशिवरात्रि भोले बाबा आप सभी की मनोकामनाएं पूर्ण करें।
Share This Post