Breaking News:

पहली बार पुस्तकों में शामिल हो रहा है हिंदुत्व… गौरवान्वित होंगे आप #NCERT के नए पाठयक्रम पर

हिंदुत्व जिसे देश की तथाकथित राजनैतिक पार्टियों ने आतंक से जोड़ दिया.. वो हिंदुत्व जिसने दुनिया को जीने का रास्ता सिखाया.. दुनिया को सद्मार्ग दिखाया.. उस हिंदुत्व को हिन्दुस्तान की तथाकथित राजनीति में बदनाम किया गया. हिंदुत्व को मानने वालों का दमन किया गया. लेकिन अब समय बदल गया है. अब देश का बच्चा बच्चा दुनिया को राह दिखाने वाली विचारधारा हिंदुत्व को समझेगा, हिंदुत्व को पढ़ेगा.

बता दें कि देश में पहली बार स्कूली पाठ्यक्रम में हिन्दुत्व को शामिल किया गया गया है. NCERT के नए पाठ्यक्रम पर आप निश्चित ही गौरवान्वित हो उठेंगे जिसमें अब हिंदुत्व को जगह दी गयी है. इसके अलावा एनसीईआरटी की 12वीं की नई पाठ्य पुस्तक में बताया गया है कि के अनुसार साल 2014 के आम चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी की जीत ऐतिहासिक थी. एनसीईआरटीकी एक नई किताब में ‘आजादी के बाद भारत में राजनीति, का जिक्र किया गया है.

अब NCERT के 12वीं कक्षा की किताब के एक पाठ में ‘सांप्रदायिकता, धर्मनिरपेक्षता, लोकतंत्र’ जिसके माध्यम से यह समझाने की कोशिश की गई है कि कैसे भाजपा ने 1986 के बाद से अपने विचारधारा के केंद्र में हिंदु राष्ट्रवाद को रखा है.’ किताब में बताया गया है कि हिंदुत्व का शाब्दिक अर्थ हिंदुत्व है और भारतीय मूल के आधार के रूप में इसके उत्प्रेरक वी डी सावरकर द्वारा परिभाषित किया गया. हिंदुत्व को परिभाषित करने के लिए वी डी सावरकर के विचारों को शामिल किया गया है जिसके अनुसार सभी भारतीयों को भारत को एक पवित्र पितृभूमि-मातृभूमि के रूप में स्वीकार करना होगा.
अभी हिंदुत्व विरोधी तथाकथित राजनैतिक पार्टिया हिंदुत्व को बदनाम करती यी हैं लेकिन इस नई किताब में लिखा गया है कि हिंदुत्व में विश्वास करने वालों का मानना है कि एक शक्तिशाली राष्ट्र का निर्माण मजबूत और संयुक्त राष्ट्रीय संस्कृति के आधार पर ही किया जा सकता है. हिंदुत्व वो विचारधारा है जो सबको साथ लेकर चलती है तथा हिन्दुस्तान को भारतमाता के रूप में मानती है. हिंदुत्व की विचारधारा का रास्ता वो रास्ता है जिस पर चलकर एक सशक्त, सांस्कृतिक राष्ट्र का निर्माण संभव है.

Share This Post