हिंदुओं को जेल भेजने का हुआ उल्टा असर.. गुरुग्राम में सडकों पर उतरी जनता और बोली- “सड़क और किसी भी खाली जगह पर नहीं होगी नमाज,कितनों को भेजोगे जेल”

देश की साइबर सिटी कहा जाने वाला देश की राजधानी दिल्ली से सटा हुआ हरियाणा के शहर गुरुग्राम में 20 अप्रैल को उस समय तनाव पैदा हो गया था जब विडियो वायरल हुआ जिसमें कुछ हिन्दू युवाओं ने शहर के सेक्टर ५३ के वजीराबाद गाँव की खाली जमीन पर जुम्मे की नमाज पढ़ रहे लोगों को भगा दिया था तथा नमाज नहीं पढ़ने दी थी. इन हिन्दू युवाओं का आरोप था कि कि नमाज के बहाने ये लोग हिन्दुस्तान मुर्दाबाद तथा पकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये थे. जिसके बाद शिकायत पर पुलिस ने 6 हिन्दू युवाओं को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था, जिन्हें हाल ही में जमानत मिली है.

लेकिन हिन्दू युवाओं को जेल भेजने का उलटा असर दिखाई दिया तथा कल 4 अप्रैल को गुरुग्राम में कम से कम 10 जगहों पर खुले में नमाज पढने से रोका गया तथा हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी कि सरकारी जमीन पर या कहीं खाली जगह पर नमाज नहीं पढ़ने दी जायेगी, चाहे कितनी ही बार जेल क्यों न जाना पड़े. हिन्दू संघर्ष समिति के बैनर तले हिन्दू कार्यकर्ताओं ने कल जगह जगह पर जाकर नमाज पढने से रोका, जिससे तनाव का माहौल पैदा हो गया तथा पुलिस को स्थिति को सामान्य करने में काफी मशक्कत करनी पड़ी.

हिन्दू  न संगठन के लोगों द्वारा सिकंदरपुर, इफ्को चौक, अतुल कटारिया चौक, एमजी रोड और साइबर पार्क के नजदीक स्थित एक प्लॉट के पास भी विरोध जताया गया तथा नमाज को रोका गया. इन हिन्दू कार्यकर्ताओं का कहना था कि एक साजिश के तहत खुले में नमाज पढी जा रही है ताकि “लैंड जिहाद” के तहत खाली जमीन पर कब्जा किया जा सके. इन कार्यकर्ताओं ने कहा कि नमाज पढनी में तो मस्जिद में जाकर पढो. अपनी जमीन पर जाकर पढो लेकिन गुरुग्राम में खाली जमीन को किसी को कब्जाने नहीं दिया जायेगा तथा नमाज नहीं पढने दी जायेगी,, इसके लिए वह लगातार संघर्ष करते रहेंगे.

Share This Post

Leave a Reply