Breaking News:

फ्रांस से भारत आया था घूमने… रम गया श्रीराम की धुन में और ओढ़ लिया भगवा.. अब उसका नाम है “भगवान गिरी”

डेनियल..फ्रांस के एक बड़े बिजनिसमैन थे. एक बार वह भारत आये तो वापस नहीं गए. भारत आकर डेनियल को भगवान श्रीराम से प्रेम हो गया तथा वह श्रीराम की धुन में ऐसे रम गये कि उन्होंने भगवा ओढ़ लिया, अपना बिजनिस छोड़ दियातथा सन्यासी बन गये. अब डेनियल का नाम “भगवान गिरी” है तथा प्रयागराज में कुंभ की तैयारियों में लगे भगवा कपड़े पहने डेनियल उर्फ़ भगवान गिरी पूरी संगमनगरी में चर्चा का विषय बने हुए हैं.

भारत से हजारों किलोमीटर दूर फ्रांस जो फैशन आधुनिक दुनिया तथा विलासिता पूर्ण जीवन का एक प्रमुख देश माना जाता है, वहां से 30 साल पहले शांति की तलाश में डेनियल भारत आये तथा फिर भारत के ही होकर रह गए. डेनियल जवानी में आए थे और इसके बाद निरंजनी अखाड़े के देवगिरी संत के संपर्क में आए. वह सनातन धर्म और अखाड़े की दिनचर्या में ऐसे रम गये कि उन्होंने अपना धर्म परिवर्तित कर लिया और देवगिरी जी को अपना गुरु बना लिया. यही नहीं, उन्होंने हिंदु धर्म अपनाकर अपना नाम परिवर्तित कर लिया और डेनियल से ‘भगवान गिरी’ हो गए. अब तो भगवान giri बने डेनियल ने थोड़ी हिंदी भी सीख ली है.

डेनियल बाबा या भगवान गिरी कुंभ में आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं. परंपरावादी अखाड़े के लोग डैनियल को अपना गुरु भाई समझते हैं उनके साथ बैठना, खाना पीना, ध्यान योग पर चर्चा भी करते हैं. डेनियल अपने साथियों के साथ ही भोजन करते हैं और साधु जीवन का पूरी तरह पालन करते हैं. डेनियल बाबा कुंभ खत्म होने तक प्रयागराज में ही रहेंगे. भगवान गिरी अपने पारिवारिक और पिछले इतिहास पर चर्चा नहीं करना चाहते, लेकिन वह बताते हैं कि वह फ्रांसीसी नागरिक हैं और भारत की आबोहवा उन्हें बहुत भाई. सनातन धर्म उन्हें सबसे अच्छा धर्म और शांति प्रिय धर्म लगा इसलिए वह अपना आगे का जीवन इसी की साधना में आगे बढ़ा रहे हैं. अब वह साधुओं की परंपरा के अनुसार योग करते हैं, ध्यान करते हैं, भजन और  धूनी भी लगाते है.

Share This Post