3 जून- जन्म दिवस राष्ट्र रक्षक अमित चतुर्वेदी. अरुणाचल को आतंक मुक्त करते हुए कल ही प्राप्त की वीरगति

उस वीर योद्धा का जन्मदिन आज ही था और वो 2 जून को इस देश की रक्षा करते हुए सदा के लिए अमर हो गया है . ये महान योद्धा कल ही वीरगति को प्राप्त हुआ है अरुणाचल प्रदेश में जहाँ देश के दुश्मनों की पूरी गैंग को राष्ट्र के रक्षको से जंग लड़नी पड़ी लेकिन उस युद्ध में उत्तर प्रदेश के आगरा के अमित चतुर्वेदी ने अपना सर्वोच्च बलिदान दे दिया .. इस परिवार के सदस्य अगले दिन अपने इस जांबाज़ को जन्म दिन की शुभकामना देने की तैयारी कर रहे थे लेकिन उन्हें खबर आई एक दिन पहले इस योद्धा के बलिदान की .

राष्ट्र भी नतमस्तक है ऐसे वीर के आगे जिसने अपनी जवानी में ही अपना जीवन राष्ट्र को समर्पित कर दिया है . आगरा के थाना कागारौल के बीसलपुर गांव के रहने वाले जवान अमित चतुर्वेदी (25) शुक्रवार की रात अरुणाचल में उग्रवादियों से लोहा लेते समय वीरगति को प्राप्त हो गये .. उनके बलिदान की खबर जैसे ही उनके घर पहुची , उनके गाँव ही नहीं बल्कि पूरे इलाके और प्रदेश भर में शोक की लहर दौड़ गयी और उनके घर तक पहुचने में सक्षम सभी उस तरफ चल दिए ..

बीसलपुर निवासी रामवीर चतुर्वेदी रिटायर्ड सूबेदार हैं. इस परिवार की राष्ट्रभक्ति का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इनके तीनों बेटे सुमित, अमित और अरुण सेना में हैं.तीनों में मझले अमित एक अप्रैल 2014 में सेना में भर्ती हुए थे. वह 17 पैरा फील्ड रेजीमेंट में थे. रामवीर ने बताया कि 31 मई की देर शाम अमित से फोन पर संपर्क साधा. उसने तीन जून को गांव आने के लिए रिजर्वेशन कराने की बात कही थी. उनकी सगाई हुई थी, लेकिन शादी की तिथि तय नहीं की. एक मई को वे अरुणाचल चले गए.

खुद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस महायोद्धा को उनके बलिदान पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की है .. आज महायोद्धा अमित के जन्मदिवस पर सुदर्शन परिवार उनको बारम्बार नमन करता है ..

Share This Post