Breaking News:

31 दिसम्बर- BSF के वीर बलिदानी रघुवीर मेहता ने आज ही कश्मीर की रक्षा करते हुए प्राप्त की थी अमरता

भारत की आन बान और शान की प्रतीक BSF ने हर बार अपने लहू से भारत की अखंडता को सींचा है और इसके तमाम वीरों ने इस देश के लिए अपने प्राण देश की इंच इंच भूमि की रक्षा के लिए गंवाए हैं . उन तमाम ज्ञात और अज्ञात वीर योद्धाओं में से एक हैं आज अर्थात 31 दिसम्बर को कश्मीर में आतंक से लड़ कर कुपवाड़ा में अमरता प्राप्त करने वाले जांबाज़ योद्धा बलिदानी रघुवीर मेहता जी . 

31 दिसंबर को इचाक के लोग देश की सरहद पर शहीद होनेवाले अपने प्रखंड के रघुवीर मेहता को याद करेंगे। बीएसएफ 93 बटालियन के जवान रघुवीर 31 दिसंबर 2000 को कूपवाडा में देश के लिये सदा सदा के लिए अमर हो गए थे। इस अमर योद्धा के पावन परिवार में इनकी पूज्यनीया पत्नी शांति देवी और वंदनीया माता भगिया देवी उर्फ यमुनी देवी जी हैं। इस दिन प्रतिवर्ष उनके पैतृक जन्म स्थल बोधिबागी मैदान में उनके बलिदान को याद करने के अलावे उनके परिजनों को सम्मानित किया जाता है .

बलिदानी मेहता जी ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए दुश्मनों को धूल चटाई थी और अपने क्षेत्र के लिए आदर्श के रूप में प्रसिद्ध हो गये . आज उनके क्षेत्र में उनके बलिदान के इतने वर्ष बाद भी उनके स्मारक पर उनके बलिदान दिवस को याद करते हुए उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित करते हैं . सुदर्शन न्यूज़ इस अमर बलिदान को आज उनके बलिदान दिवस पर बारम्बार नमन और वन्दन करते हुए उनके पराक्रम की गाथा को सदा सदा के लिए अमर रखने का संकल्प लेता है . 

http://ranchiexpress.com/category/rashtriya/jharkhand/–554616

Share This Post