9 जुलाई – धर्मरक्षा व राष्ट्रप्रेम की देशभक्त छात्रों की टोली “अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद” (ABVP) स्थापना दिवस स्वरूप “राष्ट्रीय विद्यार्थी” दिवस की समस्त राष्ट्रवादियों को हार्दिक शुभकामनाएं


इन्हें छात्र जीवन मे ही बता दिया जाता है कि देश किन किन समस्याओं से जूझ रहा है.. इन्हें पता होता है कि किस प्रकार इतिहास को विकृत कर के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जाता है .. इनकी वैचारिक लड़ाई उस वामपंथ से होती है जिसके आदर्शो में विदेशी ज्यादा है जैसे कार्लमार्क्स, चे ग्वेरा, लेनिन और भी न जाने कितने ऐसे नाम .. इन्हें सबसे ज्यादा संघर्ष तुष्टिकरण के खिलाफ करना होता है लेकिन उनके चेहरे पर सदा विजयी मुस्कान दिखती है और राष्ट्र के लिए कुछ कर गुजरने का एक सपना हमेशा आंखों में ..इन्हें अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र कहते हैं जो भारत और भारतीयता में ही अपना जीवन जीते हैं ..

दुनिया के सबसे बड़े छात्र संघ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के स्थापना दिवस 09 जुलाई को हर साल भारत में “राष्ट्रीय विद्यार्थी दिवस” के रूप में मनाया जाता है.. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद एक भारतीय छात्र संगठन हैं। जिसका उद्देश्य छात्र हित व राष्ट्र हित है। विद्यार्थी परिषद का नारा है – ज्ञान, शील और एकता। विश्व का सबसे बड़ा छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् विगत 67 वर्षो से राष्ट्रहित व विद्यार्थी हित में सदैव अपना योगदान देता आया है। इसके साथ ही समय-समय पर राष्ट्र की युवा पीढ़ी को राष्ट्रहित में सजग रखकर देश के प्रति अपने दायित्वों का बोध भी कराता आया है।

वैसे तो तो एबीवीपी की स्थापना 1948 में हो चुकी थी लेकिन औपचारिक रूप से इसकि स्थापना 09 जुलाई 1949 को हुई जब इसका पंजीकरण हुआ। इसकी स्थापना छात्रों और शिक्षकों के एक ग्रुप ने मिलकर की थी। अपने शुरूआती दौर में इसकी सक्रियता नाममात्र की ही थी लेकिन 1958 में मुंबई के प्रोफ़ेसर यशवंतराव केलकर को इसका मुख्य संयोजक बनाने के बाद इसकी सक्रियता काफी बढ़ गई और इसने देश भर में अपना विस्तार करना शुरू कर दिया। इसलिए प्रो० यशवंतराव केलकर को ही वास्तविक संस्थापक सदस्य माना जाता है। एबीवीपी का आधिकारिक स्लोगन है– ज्ञान, शील और एकता। यानी की इस छात्र संगठन और इसके सदस्यों से यह अपेक्षा की जाती है कि यह इन तीनो शब्दों को केवल शब्द न माने बल्कि इनके गहरे अर्थ की तासीर को आत्मसात करते हुए इनके प्रति प्रतिबद्ध रहें। आज राष्ट्रवाद की उस नर्सरी और देशभक्ति की उस प्रेरणा के स्थापना दिवस पर सुदर्शन परिवार संसार के समस्त राष्ट्रवादियो व धर्मरक्षकों को हार्दिक शुभकामनाएं देता है ..


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...