रूस के 13 यहूदियों ने ओड़ लिया भगवा और निकल पड़े हर तरफ सत्य सनातन के प्रचार में.. सबने एक स्वर में कहा- “धर्म की जय हो”

भारत भ्रमण पर आये रूस के 13 यहूदी नागरिकों को हिंदुस्तान, हिंदुस्तान की संस्कृति, हिंदुस्तान की सभ्यता तथा सत्य सनातन हिन्दू धर्म ऐसा भाया कि उन्होंने सनातन को अपना लिया.  रूस से आये सभी 13 यहूदियों ने हरियाणा के भिवानी के जहरगिरी मंदिर में भगवा ओढ़कर दीक्षा ली तथा हिन्दू धर्म अपना  लिया. हिन्दू धर्म अपनाने वाले रूसी नागरिकों ने कहा कि हिंदू संस्कारों से प्रभावित होकर धर्म को अपनाया है. उन्होंने कहा कि वह अपने देश रसिया जाकर भगवान भोलेनाथ का मंदिर बनाकर ¨हदू धर्म व संस्कृति का प्रचार भी करेंगे.

हिन्दू धर्म अपनाने वाले इन रूसी नागरिकों में में 7 महिलाएं और 6 पुरुष हैं. जहरगिरी मंदिर के महंत अशोर गिरी ने बताया कि ये लोग काफी समय से भारत आ रहे थे. इन्होंने हमारे पूरे देश के हर धाम को दौरा किया, जिसके बाद हमारे धर्म, संस्कृति के वसुधैव कुटुंभकम व शांति के संदेश से प्रभावित होकर ¨हदू धर्म अपनाया है. उन्होंने बताया कि अब कुछ दिनों बाद ये अपने देश जाकर मंदिर बनाएंगे और हमारे धर्म व संस्कृति का प्रचार करेंगें.

यहूदी से हिन्दू बनने इन लोगों ने बताया कि जब वो पांच-छह साल पहले भारत आए तो उस समय गर्मी का मौसम था. उन्होंने यहां अजीब लगा, लेकिन बार-बार आने के बाद वो यहां के मौसम के आदि हो गए. उन्होंने कहा कि जब उन्होंने यहां की संस्कृति व धर्म का जाना तो बहुत प्रभावित हुए. इसके बाद उन्होंने देश में कई मंदिरों व धामों का दौरा कर अंत में हिन्दू धर्म अपनाने का फैसला लिया. इन लोगों का कहना है कि हिंदू धर्म और संस्कृति सिर्फ कहने को नहीं बल्कि वास्तव में पूरी दुनिया में सबसे बेहतर है. उन्होंने कहा है कि अब वह रसिया जाकर सनातन हिन्दू धर्म का प्रचार करेंगे.

Share This Post