Breaking News:

भारत का एक ऐसा प्रदेश जहाँ चुनाव लड़ने पर प्रशासन करवाएगा 10 लाख का बीमा.. जबकि अभी भी पता नहीं किसी को आतंक का धर्म

जरा उस प्रदेश और उस स्थान के बारे में कल्पना कीजिए जहाँ भारत की संवैधानिक प्रक्रिया में हिस्सा लेने को फरमान की नाफ़रमानी माना जा रहा हो और उन्हें कत्ल करने की धमकी दी जा रही है . चुनाव में वोट देने वाले आम लोग तो दूर , जहाँ पुलिस की सुरक्षा में चल रहे प्रत्याशियों तक का बीमा करवाया जा रहा है . अफ़सोस की बात ये है की अभी भी आतंकवाद का कोई धर्म नहीं है जैसे नारे गूँज रहे हैं .

ज्ञात हो कि बढ़ रहे कट्टरपंथ और उन्माद के बीच ही भारत के उत्तरी-राज्य में आतंकवादी संगठनों ने चुनाव लड़ने वाले चुनाव उम्मीदवारों को धमकी दी है. विदित हो कि इस साल अक्टूबर और नवंबर में स्थानीय चुनावों में उम्मीदवार के रूप में खड़े किसी भी व्यक्ति को आतंकवादी संगठनों द्वारा जान से मरने कि धमकी दी है, लेकिन जम्मू-कश्मीर का राज्य प्रशासन न उन्हें न केवल सुरक्षा प्रदान करता है बल्कि उम्मीदवारों को जीवन बीमा भी प्रदान करने की बात कही है। यह कदम कश्मीर घाटी में चल रहे हिजबुल मुजाहिदीन जैसे आतंकवादी समूहों की चेतावनी को देखते हुए यह कदम उठाया गया है।

ये वही प्रदेश है जिसमे अभी हाल में ही एक एक कर के तमाम पुलिस वालों को कत्ल कर दिया गया है केवल इस फरमान न मानने के चलते कि वो उनके आदेश पर नौकरी नहीं छोड़ रहे हैं . यह घोषणा पत्रिका द वीक के साथ एक साक्षात्कार में राज्य के गवर्नर द्वारा की गई थी। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्य पाल मलिक ने द वीक को बताया कि “हम हर उम्मीदवार को 10 लाख रुपये का बीमा कवर प्रदान करने जा रहे हैं।” मलिक ने पत्रिका को बताया कि सरकार उम्मीदवारों को सुरक्षा प्रदान करेगी और यदि उम्मीदवार अपने निवास स्थान पर असुरक्षित महसूस कर रहे थे, तो सरकार उन्हें एक सुरक्षित स्थान पर ले जायेगी।

Share This Post