Breaking News:

रावण ने मायवती को बुआ कहा तो अब मायवती का भीम आर्मी को वो जवाब जो भीम आर्मी ने सोचा भी नहीं रहा होगा ..

अभी हाल में ही भारतीय जनता पार्टी की उत्तर प्रदेश सरकार ने सहारनपुर के दंगाई चंद्रशेखर रावण को जेल से रिहा करने का आदेश दिया था जिसके बाद आधी रात को उसकी रिहाई हुई .. जेल से बाहर आते है अचानक ही रावण ने भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ आक्रामक तेवर दिखाए और योगी आदित्यनाथ और नरेंद्र मोदी की सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प लिया था . इतना ही नहीं , बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायवती के लिए उसकी नरमी अचानक ही चर्चा का विषय बन गयी थी और उसने बसपा प्रमुख मायावती को अपनी बुआ बताते हुए दलितों के अधिकारों के लिए लड़ने वाली एक शख्सियत बताया था .

लेकिन अब बारी मायवती द्वारा जवाब देने की थी .. पूरा प्रदेश और राजनैतिक हल्के मायावती द्वारा भी भीम आर्मी को सकारात्मक जवाब देने की आशा रख रहे थे लेकिन जो जवाब उधर से आया वो किसी ने सोचा भी नहीं रहा होगा . मायावती ने न सिर्फ रावण को ही कटघरे में खड़ा कर दिया बल्कि उसके पूरे संगठन भीम आर्मी को भी सिरे से नकार दिया है . ये तमाम बातें आज मायावती ने एक प्रेस कान्फ्रेसं के जरिये बताई हैं जो प्रदेश की राजनीति के लिए एक नये करवट के समान है . अब सवाल ये भी उठ रहा है कि भीम आर्मी का जवाब क्या होगा और इतना ही नही राजनीति में उसका अगला कदम क्या होगा .

मायावती ने प्रेस कांफ्रेस में मीडिया से कहा कि कुछ लोग अपने राजनैतिक स्वार्थ में तो कुछ बचाव में तो कुछ खुद को जवान लोग मेरे साथ अपनी रिश्तेदारी जोड़ रहे है,लेकिन मेरा ऐसे लोगो से मेरा कोई रिश्ता नही है।* ये बातें सीधे सीधे रावण और उसके सन्गठन भीम आर्मी के लिए बोली जा रही थी ..उन्होंने आगे कहा कि भीम आर्मी जैसे संगठन समाज के सामने कहते कुछ है और कहते कुछ है, ऐसे लोगो से समाज को सावधान रहना चाहिए। यदि ये समाज के हित में सोचते थे तो इन्हें कोई अलग संगठन नही बनाना चाहिए था.. भीम आर्मी ही नहीं इस बयान से अब दलित का बड़ा वर्ग भी राजनैतिक रूप से पशोपेश में है कि वो किस को अपना नेता माने ..

Share This Post