उधर केजरीवाल और उनकी टीम दे रहे थे मोदी को चुनौती.. इधर उनका दूसरा विधायक ओढ़ रहा था भगवा


बेहद पशोपेश वाला समय था वो जब दिल्ली में होने वाले लोकसभा चुनावों से ठीक पहले अरविन्द केजरीवाल और उनकी पूरी टीम इस मंथन में लगी हो कि इस बार नरेंद्र मोदी की टीम को कैसे हराया जाय और उसी समय उनका विधायक उनकी पार्टी को छोड़ कर उसी भाजपा के साथ जा कर मिल जाए तो .. यहाँ ये ध्यान रखने योग्य है कि आम आदमी पार्टी विपक्ष की कई पार्टियों की आशा है इसलिए कि वो दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी को टक्कर दे कर रोकेगी .

लेकिन जिस प्रकार से अरविन्द केजरीवाल की टीम टूट रही है उस से कई राजनैतिक जानकारों को लग नही रहा है कि इस बार केजरीवाल भाजपा के खिलाफ मजबूत स्थिति में हैं . इस से पहले भी उसी पार्टी के तमाम कद्दावर नेता भाजपा का दामन थाम चुके हैं या फिर केजरीवाल से बगावत कर चुके हैं . प्रशांत भूषण , योगेन्द्र यादव , कपिल मिश्रा आदि के बाद अब एक और नया नाम जुड़ा है आम आदमी पार्टी से बागवत करने वालों में और वो नाम है विधायक देवेन्द्र सहरावत का .

आम आदमी पार्टी के गांधी नगर दिल्ली से विधायक देवेन्द्र सहरावत ने भाजपा उस समय ज्वाइन कर ली जब केजरीवाल उसी भाजपा को चुनौती दे रहे थे . देवेन्द्र सहरावत ने कहा कि उनको लगातार पार्टी से नजरंदाज़ किया जा रहा था और किनारे करने की कोशिश हो रही थी , इसीलिए उन्होंने खुद से ही केजरीवाल से किनारा कर लिया . सहरावात ने स्वीकार किया कि देश में नरेंद्र मोदी की लहर है जिसके आगे अरविन्द केजरीवाल के सभी प्रयास बेकार हैं.. इस मौके पर भाजपा के विजय गोयल ने कहा कि भाजपा के दरवाजे उन सभी के लिए खुले हैं जो अच्छे और सच्चे हैं , साथ ही हमारे साथ आना चाहते हैं .


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...