बांग्लादेशियों को बुलाया गया था प्रचार के लिए.. पहले एक वापस किया गया था, अब दूसरे के लिए आया नया आदेश

लोकसभा चुनाव 2019 के सियासी रण में जीत हासिल करने के लिए तृणमूल कांग्रेस की मुखिया तथा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बांग्लादेशी कलाकारों फिरदौस अहमद तथा गाजी अब्दुल नूर को चुनाव प्रचार के लिए बुलाया था. जब इस बात की खबर सामने आई भारत के चुनाव में बांग्लादेशी प्रचार कर रहे हैं तो देश की जनता भड़क उठी थी. सुदर्शन ने भी इस खबर को प्रमुखता से उठाया  तथा बांग्लादेशी कलाकारों के खिलाफ कार्यवाई की मांग की थी.

एक और मदरसा, एक और बलात्कार.. लेकिन बात सिर्फ वहीं नहीं रुकी, उसके आगे भी जारी रहा अत्याचार

सुदर्शन की इस खबर का असर हुआ तथा केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने फिरदौस अहमद के खिलाफ कार्यवाई करते हुए, उसे देश छोड़ने का आदेश दिया, उसका वीजा रद्द किया. भारत सरकार ने पहले फिरदौस के खिलाफ कार्यवाई की थी तो अब दूसरे बांग्लादेशी गाजी अब्दुल नूर के खिलाफ केंद्र सरकार सख्त हो गई  है. खबर के मुताबिक़, पश्चिम बंगाल में एक चुनावी रैली में हिस्सा लेने वाले बांग्लादेशी अभिनेता गाजी अब्दुल नूर को तुरंत भारत छोड़ने के लिए कहा गया है. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘वीजा नियमों के विपरीत ज्यादा समय तक रूकने के लिए उपयुक्त कदम उठाए जा रहे हैं.’’

ये लोकतंत्र की सबसे सुंदर तस्वीर होगी जब पाकिस्तान से धर्म बचा कर आये हिंदू पहली बार डालेंगे वोट.. पहले बांग्लादेशियों के बनते थे वोटर कार्ड

खबरों के मुताबिक गाजी अब्दुल नूर ने पश्चिम बंगाल की दमदम लोकसभा सीट से तृणमूल प्रत्याशी सौगत राय के समर्थन में प्रचार किया था. नूर पर वीजा की अवधि खत्म हो जाने के बाद भी भारत में अवैध तरीके से रहने का आरोप है. गृह मंत्रालय ने कहा है कि वीजा नियमों के उल्लंघन आरोप में भी नूर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. आव्रजन ब्यूरो की रिपोर्ट पर गृह मंत्रालय ने यह कार्रवाई की है. दमदम लोकसभा क्षेत्र में राय के समर्थन में प्रचार करने का वीडियो सामने आने के बाद प्रदेश भाजपा ने नूर के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत की थी. भाजपा ने इसे वीजा नियमों का उल्लंघन के साथ ही आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन भी करार दिया था.

उस अनाथ को 8 माह की उम्र में लोया था गोद, फिर पढ़ा-लिखाकर बनाया था इंजीनियर.. फिर उस लड़की की जिंदगी में आया इखलाक और फिर मिली 2 लाशें

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post