दिल्ली युनिवर्सिटी में लहराया भगवा. वन्देमातरम के गगनभेदी उद्घोष ने दबाया लाल सलाम के नारे को


JNU में जीत की खुमारी में खुश कई वामपंथी विचारधारा के लोगों को उस समय एक बड़ा झटका लगा जब दिल्ली विश्वविद्यालय के चुनावों में एक तरफ से भगवा ब्रिगेड ने वामपंथी समूह का सफाया करते हुए प्रचंड जीत दर्ज की.. ये जीत आने वाले दिल्ली के विधानसभा चुनावों में युवाओं की एक पसंद को दर्शाती है और तमाम राजनैतिक दलों को अपनी राजनीती के मामले में पुनर्विचार करने की तरफ अग्रसर करती है . यहाँ वन्देमातरम के नारे लाल सलाम पर भारी पड़े हैं .

आख़िरकार दिल्ली विश्वविद्यालय के चारों पदों के नतीजे घोषित हो गए हैं. अखिल भारतीय विद्यार्थी ने एक साधारण संघर्ष के बाद प्रेसिडेंट, वाइस प्रेसिडेंट और जॉइंट सेक्रेटरी पद पर प्रचंड जीत दर्ज कर ली है. वहीं एनएसयूआई के लिए एकमात्र अच्छी खबर ये है कि उसने सेक्रेटरी पद पर कब्जा करने में सफलता पाई है .. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् की तरफ से अध्यक्ष पद पर अक्षित दहिया जीते हैं. वहीं उपाध्यक्ष पद पर एबीवीपी के उम्मीदवार प्रदीप तंवर और जॉइंट सेक्रेटरी पर शिवांगी खरवाल ने जीत का परचम लहराया.

अगर बात जीत के लिए वोटों के अंतर की हो तो अध्यक्ष के पद पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद्ए के अक्षित दहिया 19 हजार वोटों से जीते हैं. वहीँ उपाध्यक्ष के पद पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के ही प्रदीप तंवर ने 8,574 वोटों से विजयी हुई हैं . जॉइंट सेक्रेटरी पद पद को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् की शिवांगी खरवाल ने 3 हजार वोटों से जीता. एनएसयूआई को मात्र एक सीट पर जीत मिली है. एनएसयूआई के उम्मीदवार आशीष लांबा ने सेक्रेटरी पद को 1,053 वोटों से जीता.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...