“कांग्रेस को अब लोग समझते हैं देशद्रोही और पाकिस्तानी एजेंट”.. बोल कर कांग्रेस के बिहार प्रदेश प्रवक्ता ने दे दिया इस्तीफ़ा

राजनीति के मध्य में सेना को घसीटने वालों से भले ही देश का कोई वर्ग खुश या नारा हुआ हो लेकिन इसके परिणाम आने से पहले दुष्परिणाम दिखने शुरू हो गये हैं . इस बेहद संवेदनशील मामले में जहाँ पक्ष और विपक्ष दोनों आमने सामने आ गये थे वो अब बिहार में हुआ है कुछ ऐसा जो कम से कम कांग्रेस के दृष्टिकोण से किसी भी हाल में सही नहीं कहा जा सकता है . एयर स्ट्राइक के माध्यम से सेना पर सवाल उठाने के बाद अब देश ही नहीं कांग्रेस नेताओं के घर परिवार में भी आक्रोश है .

ज्ञात हो कि इस आक्रोश को कांग्रेस के बिहार प्रदेश प्रवक्ता नहीं झेल पाए और उन्होंने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफ़ा दे कर कांग्रेस को आत्ममंथन पर मजबूर कर डाला है . इस से पहले कांग्रेस पार्टी की तरफ से बार बार सेना के शौर्य पर सवाल उठाया जा रहा था जिसमे सबसे आगे नवजोत सिंह सिद्धू ने कदम बढाए थे जिस पर हिन्दू विरोधी बयानों के लिए जाने जाने वाले दिग्विजय सिंह भी चल पड़े थे और हद तो तब हो गयी थी जब खुद राहुल गाँधी ने इस मामले में सबूत की मांग कर डाली .

इसी के बाद कई कांग्रेस नेताओं को समाज में भारी आक्रोश झेलना पड़ा था लेकिन ये बात अब निकल कर सामने आई है कि उनको खुद अपने घर और परिवार के साथ रिश्तेदारी में भी शर्मिंदा होना पड़ा था . बिहार कांग्रेस के प्रवक्ता विनोद शर्मा ने शनिवार को एक साथ पार्टी और प्रवक्ता के पद से इस्तीफा दे दिया है।उन्होंने कांग्रेस द्वारा एयर स्ट्राइक के सबूत मांगे जाने को गलत बताया है .. शर्मा ने  पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को इस्तीफा भेजते हुए लिखा कि मुझे कांग्रेसी कहलाने में शर्म आ रही है। उन्होंने चिट्ठी में कांग्रेस पर भी गंभीर सवाल खड़े किए और एयर स्ट्राइक का सबूत मांगने को शर्मनाक बताया।

अपने बयानों में कांग्रेस के ऊपर सवालों की झड़ी लगाने वाले प्रदेश प्रवक्ता शर्मा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लिखे अपने बेबाक पत्र में भारत की वायुसेना द्वारा जांबाजी से किये गये आतंकी कैम्प पर एयर स्ट्राइक के सबूत मांगने को सेना को मनोबल तोड़ने वाला बताया और कहा कि ऐसे ही कारणों से कांग्रेस की स्थिति बुरी हो रही है और लोग कांग्रेस को पकिस्तानी का एजेंट समझने लगे हैं। शर्मा ने कहा कि मेरे लिए पार्टी से ऊपर देश है और देश ही सभी मुद्दों से ऊपर और सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि उनको खुद अपने परिवार में भी लज्जित होना पड़ रहा था जो उनके लिए सहन से बाहर की चीज थी .

Share This Post