कर्नाटक फैसला करे कि उसे महान छत्रपति शिवाजी चाहिए या क्रूर हत्यारा टीपू सुलतान … #BJP विधायक के बयान के बाद राजनैतिक तूफ़ान

दक्षिण भारत के राज्य कर्नाटक में विधानसभा चुनावों के प्रचार जोरों पर हैं तथा हर पार्टी के प्रत्याशी अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए पूरा जोर लगा रहे हैं तथा मतदाताओं को लुभाने में कोई कसार नहीं छोड़ना चाहते. एक ओर जहाँ कांग्रेस ने तुष्टीकरण की राजनीती के तहत चुनावी फायदे के लिए हिन्दुओं को बाँटने का दाव चला है तथा हिन्दुओं के एक अहम् वर्ग लिंगायत को अलग धर्म की मान्यता देने का ऐलान कर दिया है वही भाजपा ने ऐलान कर दिया है कि वह हिन्दू समाज को बाँटने नहीं देगी. चुनाव प्रचार के बीच एक भाजपा प्रत्याशी ने ऐसा बयान दिया है जिस पर राजनैतिक बवाल मच गया है.

कर्नाटक की बेलगावी(ग्रामीण) विधानसभा सीट से भाजपा विधायक तथा प्रत्याशी संजय पाटिल का एक विडियो सामने आया है जिसमें वह विधानसभा चुनावों को हिन्दू बनाम मुस्लिम बताते हुए दिख रहे हैं. विडियो में संजय पाटिल कहते हुए दिख रहे हैं कि ये चुनाव हिन्दुओं के भविष्य का चुनाव है. अगर हिन्दू बचा रहेगा तो सड़क, नाले, पेयजल कम आएंगे लेकिन जब अस्तित्व ही नहीं रहेगा तो इसका कोई महत्त्व नहीं है इसलिए इन चुनावों में हिंदुत्व की रक्षा के लिए भाजपा की सरकार बनना जरूरी है.

संजय पाटिल ने विडियो में कहा है कि अपने सीने पर हाथ रखकर में कहता हूँ कि भारत हिन्दुओं का देश है और यह प्रभु श्रीराम की जन्मभूमि है तथा हम लोग अयोध्या में श्रीराम मंदिर बनाने के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं. संजय पाटिल ने कहा है कि जो लोग बाबरी मस्जिद बनाना चाहते हैं, टीपू सुलतान की जयन्ती मनाना कहते हैं वह कांग्रेस को वोट करें तथा यदि आप छत्रपति शिवाजी महाराज को चाहते हैं, संभाजी महाराज को चाहते हैं, श्रीराम मंदिर को चाहते हैं, लक्ष्मी मंदिर में पूजा करने वालों को चाहते हैं तो आप भाजपा को वोट करें. भाजपा प्रत्याशी के इस बयान पर कांग्रेस विफर गयी है तथा चुनाव आयोग में शिकायत की है.

Share This Post