एक और कांग्रेस नेता ने हिन्दुओं को बताया पाकिस्तानी आतंकियों जैसा क्रूर… असली रूप में आ रही कांग्रेस


कहा जाता है कि सोच बदली जा सकती है लेकिन सिद्धांत नहीं क्योंकि सिद्धांत हमेशा अटल होते हैं. इस कहावत को पूरी तरह से चरितार्थ कर रही है हिन्दुस्तान के सबसे पुरानी राजनैतिक पार्टी कांग्रेस. अपनी हिन्दू विरोधी तथा मुस्लिम तुष्टीकरण की नीतियों के वर्तमान राजनैतिक परिदृश्य में जनता द्वारा पूरी तरह से नकारी जा चुकी कांग्रेस पार्टी एक बार फिर से अपनी वास्तविक विचारधारा पर लौट चुकी है. अपना वोटबैंक साधने की कोशिश में कांग्रेस के निशाने पर एक बार फिर से देश का बहुसंख्यक हिन्दू समाज है. पहले कांग्रेस नेता शशि थरूर ने “हिन्दू पाकिस्तान” कहा तो अपने हिन्दू विरोधी बयानबाजी के लिए प्रसिद्द कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह कहा पीछे रहते.

शशि थरूर द्वारा हिन्दुओं को निशाने पर लेने के बाद जैसे दिग्विजय सिंह को ऑक्सीजन मिल गई तथा उन्होंने भी हिन्दुओं को निशाने पर ले लिया. आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता, आतंकवाद का कोई रंग नहीं होता कहने वाली कांग्रेस को आतंकवाद में भगवा रंग नजर आया था तथा हिन्दुओं को हिन्दू को आतंकी बोला था. लेकिन कांग्रेस यहीं नहीं रुकी बल्कि इससे और आगे जाते हुए कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि बीजेपी के जीतने के बाद देश हिंदू पाकिस्तान बन जाएगा. शशि थरूर के बाद अब दिग्विजय सिंह का कहना है कि मौजूदा केंद्र सरकार की नीतियां पाकिस्तान के तानाशाह शासक रहे जिया उल हक की तरह है तथा धार्मिक कट्टरता को बढ़ावा दे रही हैं. जैसे जैसे 2019 का लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहा है वैसे वैसे तथाकथित जनेऊधारी राहुल गांधी जी की कांग्रेस अपने वास्तविक रूप में वापस नजर आ रही है.

अक्सर हिन्दू विरोधी बयान देने वाले दिग्विजय सिंह ने सीधे सीधे हिंदुत्व की तुलना क्रूर पाकिस्तानी जिहादियों से कर डाली. दिग्विजय सिंह ने कहा कि अतिवाद से आतंकवाद का जन्म होता है. पाकिस्तान में जब जिया-उल-हक ने धार्मिक अतिवाद को बढ़ावा दिया तो वहां आतंकवाद के मामलों में इजाफा हुआ. कुछ वैसे ही भारत में धार्मिक अतिवाद को बढ़ावा देने में मौजूदा सरकार जुटी है और वो तथाकथित हिंदुत्व है और ये निश्चित तौर पर खतरनाक संकेत है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share