साफ़-साफ़ दिखने लगा नोटा अभियान का असर… रुझानों में हर राज्य में लड़खड़ाती दिख रही भाजपा

भारतीय जनता पार्टी से नाराजगी के कारण जिस तरह से नोटा अभियान चलाया गया था, उसका असर 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों के शुरुआती रुझानों में साफ़ सफाई दे रहा है. मतगणना के शुरुआती रुझानों में हर राज्य में भारतीय जनता पार्टी लड़खड़ाती रही है. अपनी सत्ता वाले तीनों राज्यों मध्य प्रदेश, राजस्थान तथा छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी पीछे चल रही है तथा कांग्रेस पार्टी सत्ता में वापसी करती हुई दिखाई दे रही है.

भारतीय जनता पार्टी के लिए सबसे बुरी खबर छत्तीसगढ़ से आ रही है जहाँ एक तरह से कांग्रेस पार्टी की सरकार बन चुकी है तथा भाजपा सत्ता से बाहर हो गई है. ताजा रुझानों के मुताबिक़, छत्तीसगढ़ में जहाँ कांग्रेस पार्टी 59 सीटों पर आगे चल रही है तो वहीं भाजपा सिर्फ 23 सीटों पर सिमटती हुई दिखाई दे रही है. हालाँकि मध्य प्रदेश में भाजपा लड़ाई में दिख रही है तथा ताजा रुझानों के मुताबिक़ भाजपा तथा कांग्रेस दोनों ही 109-109 सीटों पर आगे चल रहे हैं. वहीं मध्य प्रदेश में 12 सीटें अन्य के खाते में जाती हुई दिखाई दे रही है.

राजस्थान से भी भाजपा के लिए बुरी खबर है. ताजा रुझानों में राजस्थान में जहाँ कांग्रेस 108 सीटों पर आगे चल रही है तो वहीं भाजपा को सिर्फ 76 सीटों पर लीड मिलती हुई दिखाई दे रही है. इन तीनों राज्यों में भाजपा से नाराजगी के कारण नोटा का जबर्दस्त अभियान चलाया गया था. SCST एक्ट पर केंद्र सरकार द्वारा अध्यादेश लाने के बाद नोटा अभियान ने और तेजी पकड़ी, जिसका असर दिख रहा है तथा भाजपा अपनी सत्ता वाले राज्य गंवाती दिख रही है. इसके अलावा मिजोरम में MNF सत्ता में वापसी करती हुई दिखाई दे रही है. मिजोरम में MNF 26, कांग्रेस 10, बीजेपी 2 सीटों पर लीड ले रही है. तेलंगाना में टीआरएस 90, कांग्रेस 16, बीजेपी 5 तथा बाकी सीटें अन्य को मिल रही हैं.

Share This Post

Leave a Reply