Breaking News:

एक ऐसी पार्टी जिसके प्रचार में बुलाये गये हैं बांग्लादेशी प्रचारक.. वो चाह रही है भारत की सत्ता

इस खबर को पढ़कर आपके होश फाख्ता होने वाले हैं. जब आप इस खबर को पढ़ेंगे, इसके पीछे की साजिश को समझेंगे तो आप आक्रोश से भर उठेंगे. देश में इस समय लोकसभा चुनावों को लेकर सियासी महासंग्राम छिड़ा हुआ है. राजनैतिक दल चुनावी जीत हासिल करने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रहे हैं तथा चुनाव जीतने के लिए, मतदाताओं को लुभाने के लिए देश के विभिन्न क्षेत्रों की लोकप्रिय हस्तियों का सहारा ले रहे हैं.

एक ऐसा पिता, जिसके बेटे ने एलान किया है उसके क़त्ल का… – “मोदी को वोट देने के कारण”

लेकिन एक राजनैतिक पार्टी ऐसी है जिसने अपने प्रचार में बांग्लादेशी फिल्म इंडस्ट्री के लोगों को बुलाया है तथा वो पार्टी है ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस. जी हाँ, ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में पार्टी की जीत के लिए बांग्लादेशी कलाकार फिरदौस को बुलाया है तथा फिरदौस बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी की जीत के लिए रोड शो कर रहा है, लोगों से वोट मांग रहा है. यहाँ सवाल ये नहीं बल्कि किसी फिल्म कलाकार को प्रचार के लिए बुलाया गया है, बल्कि सवाल तो ये है कि आखिर बांग्लादेशी कलाकार को क्यों बुलाया गया तथा खासकर पश्चिम बंगाल के लिए ही क्यों बुलाया गया?

मोदी को वोट देने से पहले ही 75 वर्ष के बुजुर्ग को मार डाला.. घटना में कांग्रेस का भी आ रहा नाम

जब इस प्रश्न का उत्तर सामने आता है तब और ज्यादा प्रश्न खड़े हो जाते हैं. सभी जानते हैं कि हिंदुस्तान बांग्लादेशी घुसपैठियों की ज्वलंत समस्या से जूझ रहा है तथा बड़ी संख्या में बांग्लादेशी मुस्लिम घुसपैठिये पश्चिम बंगाल में रह रहे हैं. असल में ममता बनर्जी ने इन्हीं बांग्लादेशी घुसपैठियों का वोट पाने के लिए फिरदौस को बुलाया है. अब जरा सोचिये कि जो व्यक्ति बांग्लादेशी घुसपैठियों के वोट पाकर संसद में जाएगा वो किसके लिए काम करेगा?

16 अप्रैल: बलिदान दिवस पर नमन है 1857 की क्रांति के महानायक विश्वनाथ शाहदेव जी को.. वो योद्धा जो रियासत का राज छोड़ युद्ध किये और प्राप्त की अमरता

यही कारण है कि जब असम के लिए NRC जारी हुआ तो ममता बनर्जी ने सबसे तीव्र विरोध किया. NRC के विरोध में ममता ने देश में हिंसा, आगजनी की चेतावनी तक दी थी क्योंकि वह जानती है कि असम की ताराग अगर बंगाल के लिए NRC आया तो बांग्लादेशी घुसपैठियों पर चाबुक चलेगा, जो ममता बनर्जी की पार्टी के वोटर हैं.

भारत वाले पहली बार देखेंगे एक महिला को फांसी पर झूलते हुए.. उस महिला का नाम है शबनम लेकिन कुकृत्य बेहद भयावह

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW