विपक्ष भूल गया “फेंकू” शब्द.. सब एक साथ चौंक कर बोले – “अरे ये क्या हो गया” ?

भारतीय जनता पार्टी की कार्यशैली पर सबसे जायदा सवाल कांग्रेस ने उठाये थे .. उनके साथ क्षेत्रीय दलों ने भी बार बार नरेंद्र मोदी की कार्यक्षमता पर सवाल खड़े किये . अमित शाह को गृहमंत्री बनाये जाने के बाद अचानक ही लगने लगा था कि नरेन्द्र मोदी सरकार कुछ बड़ा करने की तयारी में है और थोड़े दिन तक ख़ामोशी के बाद एक बार फिर से विपक्ष के साथ जनता ने भी ये माना था कि फ़िलहाल मोदी सरकार अभी डिफेंसिव खेलने की तैयारी कर रही है बिना किसी बड़े फैसले के.

आज शांति मिली श्यामा प्रसाद मुखर्जी की आत्मा को.. “जहाँ हुए थे बलिदान मुखर्जी” … अब वो कश्मीर हमारा है

कुछ लोग ये भी मान कर चल रहे थे कि शायद बड़े फैसले आने वाले समय चुनाव के अंत में आयेगे लेकिन शुरुआत में ही इतना बड़ा कदम उठाया जाएगा ये किसी ने सोचा भी नहीं था. पिछले काफी दिन से बड़ी गहमागहमी थी कि कश्मीर में कुछ बड़ा होने वाला है लेकिन क्या होने वाला है इसका अनुमान भी किसी को नहीं था .. आज जैसे ही सदन में अमित शाह ने घोषणा कर दी कि कश्मीर में धारा 370 को निष्प्रभावी किया जाता है तो उसके बाद विपक्ष चौंक गया और हल्ला मचाने लगा ..

पुतिन और ट्रंप भी देख रहे हैं ध्यान से दुनिया में शक्ति के रूप में एक नए व्यक्ति के उदय को

अचानक ही मोदी का लोहा न सिर्फ मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने मान लिया बल्कि उनको समझ में ही नहीं आ रहा है कि वो इस फैसले पर क्या निर्णय लें. कांग्रेस पार्टी में ही अंदर ही अंदर सूत्रों से कुछ लोग इसके समर्थन में बताये जा रहे है ऐसे में ये भी माना जा रहा है कि इसका विरोध कांग्रेस को कहीं पार्टी के अन्दर ही भारी न पड़ जाए .. फिलहाल देश एक बार फिर से जश्न में डूब चुका है और हर मुह पर नरेंद्र मोदी और अमित शाह के अटल निर्णय की तारीफ हो रही है .

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share