कांग्रेस की सभा में बुरी तरह से लात घूंसे.. बाद में पता चला कि वो झगड़ा देश या धर्म के मुद्दे पर नहीं था, बल्कि..

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने चुनावी अभियान में चीख चीख कर कह रहे हैं कि उनकी पार्टी के प्रत्याशी राष्ट्र को मजबूत करने के इरादों तथा वादों के साथ चुनाव मैदान में हैं.. लेकिन इसकी वास्तविक हकीकत क्या है इसका उदहारण उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में उस समय देखने को मिला जब सभा के दौरान कांग्रेस के कार्यकर्ता आपस में ही भिड़ गये. ये कोई साधारण भिड़त नहीं बल्कि इनमें जमकर लात-घूंसे चले तथा घंटों मारपीट होती रही तथा पुलिस ने जाकर भीड़ को खदेड़ा.

एक मैगजीन के दावे पर खुश होते पाकिस्तान को चित्त कर दिया अमेरिका के रक्षा मंत्रालय ने.. मामला अभिनंदन द्वारा मार गिराए गये F-16 का है

इस झगड़े की ख़ास बात ये थी कि ये देश या धर्म के मुद्दे पर नहीं बल्कि बिरियानी के लिए झगड़ा हुआ. मामला जनपद मुजफ्फरनगर के थाना ककरौली क्षेत्र के गांव टंडहेड़ा का है. जहां बसपा से कांग्रेस में आए मीरापुर क्षेत्र के पूर्व विधायक मौलाना जमील अहमद कासमी द्वारा बिजनौर लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी नसीमुद्दीन सिद्दीकी के लिए एक चुनावी सभा का आयोजन किया गया था. इसमें भारी भीड़ भी मौजूद थी. बता दें जनपद मुजफ्फरनगर की पुरकाजी विधानसभा और मीरापुर विधानसभा सीट बिजनौर लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है.

“हिन्दुओ की अलग अलग जातियों में गिनती और मुसलमानों – ईसाइयों को एकजुट कर के उनका सर्वांगीण विकास” – ये एलान है एक पार्टी का अगर इस बार वो जीतेगी तो

बता दें कि यहां वोटर्स को लुभाने के लिए खाने का भी प्रबंध किया गया था और सभा समाप्त होने के बाद भीड़ खाने की ओर दौड़ पड़ी. जिसमें बिरयानी खाने को लेकर पहले तो कार्यकर्ताओं में छीना झपटी हुई फिर धक्का-मुक्की और फिर मारपीट उसके बाद लाठी-डंडे चल पड़े. मगर इस बीच कोई भी बीच-बचाव करने वाला नहीं आया. यही नहीं हंगामा मारपीट के बाद कार्यक्रम में आए नेता भी अपने-अपने वाहन लेकर फरार हो गये. सूचना मिलने के बाद मौके पर पुलिस पहुंची और हिंसक भीड़ को तितर-बितर कर दिया गया. क्षेत्राधिकारी राम मोहन शर्मा ने बताया कि आईपीसी की विभिन्न धाराओं और आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन में जमील और उनके बेटे नईम अहमद समेत 34 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. घटना के संबंध में अभी तक नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

8 अप्रैल- 2 क्रूर अंग्रेज अफसरों का वध कर के आज ही भारत माँ की गोद में सदा के लिए सो गये थे 1857 के महानायक मंगल पाण्डेय जी

Share This Post