प्रखर वक्ता और कुशल नेतृत्व का गुण रखने वाले J P नड्डा बने भाजपा के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष

अमित शाह के गृहमंत्री बन जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी के शीर्षतम नेतृत्व को जिस चेहरे और व्यक्तित्व की तलाश राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए थी वो उस समय पूरी हो गई जब संसदीय बोर्ड की बैठक में एक लम्बे मंथन के बाद प्रखर वक्ता और कुशल नेतृत्व के धनी जे पी नड्डा को भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिया गया.. भारतीय जनता पार्टी की संसदीय बोर्ड की बैठक में उन्हें उनके सभी साथियों ने सहर्ष शुभकामना दी और पार्टी हित में साथ काम करने की बात कही .

जे पी नड्डा भारतीय जनता पार्टी की केद्रीय सत्ता में एक बड़ा मुकाम और ओहदा रखते हैं . पटना से बीए की पढ़ाई करने के बाद नड्डा ने हिमाचल से एलएलबी की। इसके बाद वे हिमाचल से तीन बार विधायक भी रहे। 2014 में उन्हें केंद्रीय मंत्री बनाया गया। नड्डा का मुख्य फोकस दक्षिण के राज्यों में भाजपा का जनाधार बढ़ाने पर हो सकता है। यहां तेलंगाना में भाजपा ने 4 और कर्नाटक में 23 सीटों पर जीत हासिल की जिसके बाद उनकी उपयोगिता सबने स्वीकार की थी .

2014 लोकसभा चुनाव के दौरान अमित शाह को भाजपा ने उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया था। उस वक्त राजनाथ सिंह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे। हालांकि, सरकार आने के बाद उन्होंने यह पद छोड़ दिया था। इसके बाद शाह को पार्टी अध्यक्ष बनाया गया था। नड्डा ब्राह्मण परिवार से हैं और राज्यसभा से सांसद हैं। वे भाजपा के संसदीय बोर्ड के सचिव भी हैं। नड्डा पार्टी के लिए कुशल रणनीति बनाने के लिए जाने जाते हैं। उन्हें इस चुनाव में उत्तरप्रदेश की जिम्मेदारी दी गई थी। यहां सपा-बसपा गठबंधन के बावजूद भाजपा को 80 में से 62 सीटों पर जीत मिली। जबकि सहयोगी अपना दल ने 2 सीटों पर जीत हासिल की।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW