संघ की शाखा पर प्रतिबन्ध के बयान के खिलाफ सुदर्शन न्यूज़ की खबर का बड़ा असर.. बोले कांग्रेस के बड़े नेता- “हमने ऐसा नहीं कहा था”

कांग्रेस द्वारा मध्य प्रदेश की सत्ता में आने पर सरकारी परिसरों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाओं पर बैन लगाने की बात कहे जाने के बाद देशभर से उग्र प्रतिक्रया हो रही है तथा कांग्रेस निशाने पर है. आरएसएस की शाखाओं पर बैन लगाने की कांग्रेस की घोषणा के खिलाफ सुदर्शन ने आवाज उठाई तथा कहा था कि कांग्रेस ने कई बार संघ को मिटाने की साजिश रची है लेकिन संघ बढ़ता गया और कांग्रेस सिमटती गई. कांग्रेस द्वारा संघ की शाखा पर प्रतिबन्ध के बयान के खिलाफ सुदर्शन न्यूज़ की खबर का बड़ा असर हुआ  है तथा कांग्रेस ने आपने बयान से पलटी मार ली है.

मध्य प्रदेश में अपने मैनिफेस्टो में सरकारी परिसरों में RSS की शाखा पर प्रतिबंध लगाने के मामले पर मचे सियासी बवाल के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने सफाई दी है. उन्होंने कहा कि, ‘हमने कभी नही कहा कि आरएसएस पर बैन लगाएंगे. बीजेपी वाले अपने शब्द हमारे मुंह में डालना चाहते हैं. हमने केवल सरकारी कर्मचारियों के प्रतिबंध के लिए कहा है. आरएसएस को शाखाएं लगाने की पूरी छूट है.’ दरअसल, कांग्रेस ने अपने मैनिफेस्टो में कांग्रेस ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाओं पर प्रतिबंध लगाने का भी वादा कर दिया है. इसके बाद मध्य प्रदेश की राजनीति में सियासी पारा गर्म हो गया था. कांग्रेस के घोषणापत्र में लिखा गया है, ‘शासकीय परिसरों में आरएसएस की शाखाएं लगाने पर प्रतिबंध लगाएंगे. शासकीय अधिकारी और कर्मचारियों को शाखाओं में छूट संबंधी आदेश निरस्त करेंगे.

बता दें कांग्रेस के मध्य प्रदेश चुनावी घोषणा पत्र में संघ की शाखाओं पर प्रतिबन्ध की बात सामने आने के बाद देशभर की राजनीति गरमाई हुई है. न सिर्फ संघ समर्पित भारतीय जनता पार्टी बल्कि तमाम हिन्दू संगठन कांग्रेस पार्टी पर हमलावर हैं तथा कांग्रेस की आलोचना कर रहे हैं. भाजपा का कहना है कि कांग्रेस हताश हो चुकी है और यही कारण है कि वह संघ को निशाने पर ले रही है. बवाल के बाद अब मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ डैमेज कंट्रोल में जुट गये हैं तथा उनका कहना है कि कांग्रेस संघ की शाखाओं पर प्रतिबन्ध नहीं लगाएगी.

Share This Post

Leave a Reply