क्या सच में उत्तर प्रदेश बंटने वाला है 3 हिस्सों में ? या ये है सिर्फ एक अफवाह.. जानिये सच

पिछले कुछ समय से सोशल मीडिया पर वायरल होती एक खबर ने सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा है.. ये खबर है कि उत्तर प्रदेश का 3 हिस्सों में बंटवारा होने वाला है.. इस खबर के आने के बाद सबसे ज्यदा चिंतित सीमावर्ती जिलों के अधिकारी कर्मचारी और निवासी थे क्योकि उन्हें समझ में ही नही आ रहा था कि अगर ऐसा हुआ तो वो क्या करेंगे ? हद तो तब हो गई जब सोशल मीडिया से उडती खबरों को कुछ समाचार माध्यमो ने भी छाप दिया और इस से आग में घी पड़ गया .

इसी के साथ एक लिस्ट भी वायरल होने लगी जिसमे कौन से जिले किस प्रदेश में जायेंगे ये भी लिखा गया था.. इस खबर को सबसे ज्यादा व्हाट्सएप पर शेयर किया गया था.. इस खबर की चपेट में सिर्फ आम लोग ही नहीं बल्कि सरकारी स्टाफ भी आ गये थे और कई बड़े अधिकारियो में भी कानाफूसी होने लगी थी कि कहीं ऐसा सच में तो नहीं होने वाला है .. लेकिन सुदर्शन न्यूज ने जब इस मामले की गहराई से पड़ताल की तो सामने आया वो सच जो अफवाहों पर विराम लगाने के लिए काफी है..

इस मामले में सबसे पहले सुदर्शन न्यूज की टीम ने उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री , मुख्यमंत्री कार्यालय , सभी वरिष्ठ मंत्रियों , सभी वरिष्ठ अधिकारियों ने अधिकारिक ट्विटर हैंडल व फेसबुक प्रोफाइल खंगाली. इसी के साथ केंद्र सरकार के सभी सभी सम्बन्धित अधिकारियों व मंत्रियों की भी सोशल मीडिया हैंडल और वेबसाईट के प्रेस नोट खंगाले गये .. कहीं भी एक भी जगह ऐसा एक भी बिंदु नहीं पाया गया जिस से साबित हो कि इस प्रकार की चर्चाओं में थोडा सा भी सत्यता हो ..

इसी के साथ पिछले कुछ समय से उत्तर प्रदेश के तमाम मंत्रियों , सचिवों के साथ केंद्र के भी सम्बन्धित ऐसे लोगों के बयान निकाल कर एक एक कर के देखे गये लेकिन किसी एक ने भी इस प्रकार की एक भी बात नहीं बोली जिस से ऐसा लगे कि इस प्रकार की चर्चाओं में कोई सत्यता हो.. आख़िरकार इस मामले के हद से ज्यादा वायरल होने के बाद अब इस पर उत्तर प्रदेश शासन के वरिष्ठो ने सफाई दी है जिसके बाद इन चर्चाओं पर स्वतः ही विराम लग गया है ..

ध्यान देने योग्य है कि मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उत्तर प्रदेश के विभाजन की खबर पर पूर्ण विराम लगाते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने इस तमाम अफवाहों को को पूरी तरह से सिरे से नकार दिया है. मीडिया से बात करते हुए उन्होंने बयान दिया कि किसी भी प्रकार से उत्तर प्रदेश के बंटवारे की कोई भी योजना नहीं है. सरकार के सामने ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है. साथ ही   उन्होंने जनता से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही खबरों पर ध्यान न देने की अपील की है .. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इसी मामले में भारत सरकार गृह मंत्रालय से संबंधित एक अधिकारी ने भी साफ़ कहा है कि ऐसा कोई भी प्रस्ताव नहीं है और न ही वायरल हो रही इन बातो में सत्यता है..

 

रिपोर्ट –

राहुल पाण्डेय 

सुदर्शन न्यूज – नोएडा मुख्यालय 

मोबाइल- 9598805228

 

 


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share