Breaking News:

समाजवादी पार्टी का नया प्रत्याशी करता है मांस का कारोबार.. अब तैयारी है भारत की संसद में जाने की


समाजवादी पार्टी ने आख़िरकार मुरादाबाद से अपना प्रत्याशी घोषित ही कर डाला है . अखिलेश यादव से जहाँ भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी को हराने के लिए कड़ी और बड़ी छवि के नेता की उम्मीद सब लोग कर रहे थे तो अब उन्ही अखिलेश यादव ने मुरादाबाद से मायावती के गठबंधन के साथ एक नए प्रत्याशी को उतारा है जिनकी छवि न सिर्फ मुरादाबाद भर में बल्कि पश्चिम उत्तर प्रदेश में भी एक बड़े मांस के विक्रेता के रूप में जगजाहिर है .

पुलवामा का सबूत बाद में, पहले राहुल गांधी सबूत दो कि राजीव गांधी ही तुम्हारे पिता है – विनय कटियार, BJP

जबकि मुरादाबाद में कई अन्य भी समाजवादी पार्टी से टिकट के दावेदार थे , लेकिन सबको किनारे करते हुए अखिलेश यादव ने मांस विक्रेता नासिर कुरैशी को टिकट दिया था . नासिर कुरैशी समाजवादी पार्टी उन नेताओं में हैं जो अखिलेश यादव के बेहद करीबी गिने जाते हैं और जब योगी आदित्यनाथ ने अवैध बूचड़खानों पर प्रतिबंध लगाया था तब उन्होंने इसका प्रबल विरोध भी किया था . इसी के साथ समाजवादी पार्टी ने अपनी सरकार बनने के बाद मांस के कारोबार पर अपनी सोच को जाहिर भी कर दिया है .

बौद्धों के कत्लेआम का सेंटर बनाने की तैयारी थी भारत को.. बाकायदा तैयार हो चुकी थी पटकथा

न कमाल अख्तर और न डा. एसटी हसन सपा ने हाजी नासिर कुरेशी को गठबंठन प्रत्याशी घोषित किया है। सपा का यह निर्णय सियासतदां के उलट निकला। मांस कारोबारी नासिर कुरेशी का सियासी सफर-पिछले दो विधानसभा चुनाव बसपा के टिकट पर हार चुके हैं। लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा गठबंधन में मुरादाबाद सीट पर पूर्व मंत्री कमाल अख्तर और पूर्व मेयर डा. एसटी हसन की प्रबल दावेदारी मानी जा रही थी। दोनों खेमे टिकट को लेकर जोड़तोड़ में लगे थे। इस बीच भाजपा और कांग्रेस प्रत्याशी उतार चुकी थी। ऐसे में सभी की निगाह सपा प्रत्याशी पर लगी थी। काफी प्रतीक्षा के बाद सपा ने गुरुवार को मुरादाबाद समेत पांच प्रत्याशियों के नामों की घोषणा की।

सैनिकों के हत्यारे दुर्दांत नक्सली की पत्नी को मिल गया विधानसभा का टिकट.. एक ऐसी पार्टी जिसने पीड़ा दी सैंकड़ों बलिदानियों को


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share