उद्धव ठाकरे का ये बयान खुशखबरी माना जा रहा हिन्दू संगठनो के लिए और साबित कर रहा कि महाराष्ट्र में नहीं बंटेंगे हिन्दू वोट


हिन्दू समूहों के लिए उद्धव ठाकरे का ये बयान किसी ख़ुशी की लहर से कम नही है जो देश के वर्तमान माहौल को देख कर अब ये किसी भी हाल में नहीं चाहते हैं कि हिन्दू वोटों का बंटवारा हो और कोई ऐसी सरकार कहीं भी आये जो धर्मनिरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओ का दमन करना शुरू कर दे.. भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना को भारतीय राजनीती के हिंदुत्व की धुरी कहा जाता है और इन दोनों के बीच कुछ समय पहले जो तनातनी थी वो हिन्दू समूहों के लिए चिंता का विषय थी .

लेकिन अब एक बार फिर से महाराष्ट्र चुनावों की कगार पर आ कर खड़ा हो गया है.. कांग्रेस और NCP ने आपस में मिल जुल कर चुनाव लड़ने का एलान कर दिया है और ओवैसी की पार्टी भी बीच में ताल ठोंक रही है.. इस बीच में सबकी नजर भाजपा और शिवसेना के ऊपर थी कि कहीं ये आपस में फिर किसी मुद्दे पर उलझ न जाएँ.. लेकिन अब उद्धव ठाकरे के बयान ने एक बार फिर से उन तमाम लोगों को आश्वस्त कर दिया है और हिन्दू समूहों को चुनाव की तैयारियों में व्यस्त कर दिया है ..

उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में, दोनों दलों का गठबंधन अटल है और यह गठबंधन एक बार फिर से सत्ता में वापसी करेगा। एक कार्यक्रम में अपने संबोधन के दौरान ठाकरे ने अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त करने के लिए प्रधानमंत्री की सराहना की और अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने तथा समान नागरिक संहिता लाने की अपील की. ठाकरे ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को नेतृत्व और दिशा प्रदान की है जिसमें प्रगति और विकास करने की अपार क्षमता है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...