कैमरे पर खुद के सेकुलर होने का दावा कर रहे थे कांग्रेस विधायक इरफा.. भाजपा विधायक ने कहा – ” फिर बोल दो जय श्री राम”.. जानिए फिर क्या हुआ ?

वो जोर जोर से भारतीय जनता पार्टी की नीतियों पर सवाल उठा रहे थे . उन्होंने किसानो और भीड़ आदि हर मुद्दे पर भाजपा को घेरा था .. उन्हें भीड़ के रूप पर भी आपत्ति थी और वो खुद को धर्मनिरपेक्षता का प्रतीक साबित करने पर तुले हुए थे . उनके अनुसार भारतीय जनता पार्टी के समय काल में साम्प्रदायिक सद्भाव नहीं रहा और उसकी पार्टी अर्थात कांग्रेस ने सेकुलरिज्म के सच्चे मूल्यों को जीवित रखा . ये सभी बातें मीडिया के आगे एकतरफा रूप में की जा रही थीं

ये मामला था झारखंड का जहाँ पर कांग्रेस के विधायक इरफ़ान अंसारी अपने पूरे शवाब पर दिखाई दे रहे थे . उन्होंने किसानो के वेश में विधानसभा में प्रवेश किया और बाद में निकलते समय मीडिया के आगे भारतीय जनता पार्टी के तमाम कार्यो को निशाने पर ले रहे थे . अचानक ही वहां पर भारतीय जनता पार्टी के एक विधायक पहुच गये और उनकी धर्मनिरपेक्षता को परखने की ठान ली . उन्होंने मीडिया के चालू कैमरे के आगे ही कहा कि खुद को सेकुलर साबित करो और बोलो जय श्री राम .

भाजपा विधायक का नाम सी पी सिंह है जो वर्तमान झारखंड सरकार में मंत्री भी हैं . जब उन्होंने मीडिया के आगे कांग्रेस विधायक इरफ़ान अंसारी से जय श्री राम कहने की बात कही तो इरफ़ान अंसारी ने एक बार भी जय श्रीराम नहीं कहा और उलटे बात को घुमाने लगे . उन्होंने भाजपा कर साम्प्रदायिक होने के आरोप जड़ने शुरू कर दिए . वो काफी देर तक भाजपा के विधायक सी पी सिंह से तकरार करते रहे जिसमे कई बातें निरर्थक थीं लेकिन उन्होंने एक बार भी जय श्री राम नहीं बोला..


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share