पत्नी के लिए चंडीगढ़ से टिकट चाह रहे थे लगातार पाकिस्तान की तारीफ कर रहे सिद्धू ? क्या मिल गया ?


पाकिस्तान के समर्थन में लगातार बयानबाजी कर रहे नवजोत सिंह सिद्धू की बहुत उम्मीदें थे कि वो अपनी पत्नी को कांग्रेस के टिकट पर चंडीगढ़ से लोकसभा के चुनावों में उतारेगे .. उन्होंने इसके लिए सिर्फ बयानबाजी ही नहीं की थी बल्कि अपनी तरफ से हर सम्भव कोशिश भी कर डाली थी .. और आखिरकार चंडीगढ़ से कांग्रेस ने अपने लोकसभा प्रत्याशी का नाम घोषित कर ही दिया है . चंडीगढ़ से कांग्रेस ने अपने एक पुराने नेता और पूर्व मंत्री को उतारा है ..

ये घोषणा एक कहर के जैसी है नवजोत सिंह सिद्धू ही नहीं बल्कि उनकी पत्नी के लिए भी जो कांग्रेस के लिए लगातार प्रचार कर रहीं थी . कभी भारतीय जनता पार्टी में पंजाब में सबसे बड़ी हस्ती माने जाने वाले सिद्धू को कांग्रेस ने एक प्रकार से आइना दिखाते हुए उनके कद को भी दर्शाया है और उनकी पत्नी को चंडीगढ़ से टिकट नहीं दिया है . आगामी लोकसभा चुनाव में पंजाब की चंडीगढ़ सीट से टिकट के दावेदारों में नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू भी थीं। हालांकि पार्टी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पवन कुमार बंसल को चंडीगढ़ से उम्मीदवार घोषित किया है।

कांग्रेस के हाईकमान के इस फैसले पर उन्होंने कहा कि चुनाव लड़ने के पीछे मेरा उद्देश्य सांसद बनकर युवाओं के लिए काम करने का था, दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हो सका, फिलहाल फैसला लिया जा चुका है. नवजोत कौर सिद्धू ने आगे ये भी स्पष्ट कर दिया कि वो भटिंडा या संगरूर लोकसभा सीट से लड़ने को तैयार नहीं हैं, भले ही पार्टी उन्हें इन सीटों पर टिकट देती है। मेरा घर केवल अमृतसर और चंडीगढ़ में है और एक पटियाला में है। मैं कोई फ्लाइंग लीडर नहीं हूं।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share