उन्हें कांग्रेस से इतनी दिक्कत कि अपनी पार्टी के नाम से कांग्रेस हटाने का एलान किया.. ये दिक्कत भाजपा को नहीं बल्कि किसी और को


जैसे जैसे चुनाव नजदीक आते जा रहे हैं वैसे वैसे राजनीति इस तरह से करवट ले रही है जो नित नए समीकरण बना रही है . जिस प्रकार से कभी भारतीय जनता पार्टी का सीधा मुकाबला कांग्रेस से माना जा रहा था अब वही हालात बदल कर भाजपा बनाम स्थानीय पार्टी बनता जा रहा है . पहले उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने कांग्रेस के साथ किसी भी गठबन्धन से साफ़ इंकार कर दिया तो अब एक और बुरी खबर पश्चिम बंगाल से कांग्रेस के लिए .

हिन्दू प्रत्याशी को टिकट और उन्हें नहीं, तो ट्रैक्टर ट्राली ले कर पार्टी कार्यालय पहुचे अब्दुल सत्तार और भर लिया वो सब, जो उन्होंने दिया था

ज्ञात हो कि जनता को दिखाने के लिए और राष्ट्रीय स्तर अपर एक संदेश देने के लिए ममता बनर्जी ने किया है ऐसा एलान जो कांग्रेस पार्टी के लिए विचार का विषय हो सकता है . इसके बाद ये सवाल भी उठ सकता है कि हर स्थानीय और क्षेत्रीय पार्टियाँ कांग्रेस से क्यों भाग रही हैं . विदित हो कि कांग्रेसे से आधिकारिक रूप से अलग होने के 21 साल बाद ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी ने पार्टी के लोगो में बदलाव करने का फैसला किया है।

पाकिस्तान में फिर गिरा है एक फाइटर जेट.. पाकिस्तानी विद्रोहियों के द्वारा गिराए जाने की आशंका

ममता बनर्जी के इस फैसले के बाद तृणमूल के झंडे के नए लोगो में नीले रंग के दो फूल और रहेगा और हरे रंग से तृणमूल लिखा होगा। पार्टी सूत्रों ने कहा कि पार्टी का नया लोगों एक सप्ताह के भीतर सामने आ जाएगा।. यहाँ पर ये भी ध्यान रखने योग्य है कि वर्तमान में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 1998 में कांग्रेस से अलग हो गई थीं और तत्तालीन सत्तारूढ़ माकपा के साथ मतभेद पर टीएमसी का गठन किया गया। पार्टी के एक नेता ने कहा है कि टीएमसी को तृणमूल कहा जाता है और 21 साल बाद यह बदलाव का समय था। कांग्रेस का नाम पार्टी के बैनर, पोस्टर और सभी संचार सामग्री से हटा दिया गया है।

अमेरिकी देश ग्वाटेमाला में ट्रक ने 30 को कुचल कर मार डाला.. रो दिया राष्ट्रपति


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...