भाजपा के लिए मैदान में उतरने जा रहा कौन है वो भगवाधारी जिसे माना जाता है दक्षिण का योगी आदित्यनाथ..

जैसे जैसे देश की राजनीति के लिए अतिमहत्वपूर्ण माने जाने वाले २०१९ के लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं वैसे वैसे एक बार फिर से हिन्दू वोटों को बांटने की तमाम कोशिशे पहले दलित या अन्य नामो से की गयी लेकिन जब उसमे आशातीत सफलता नहीं मिली तब खेला जाने लगा एक और बड़ा दांव जिसमे कैलाश मानसरोवर आदि की यात्रा के माध्यम से खुद को हिंदुत्व के वोटो का हकदार बनाया जाने लगा . इतना ही नहीं, अखिलेश यादव ने भी प्रभु श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के दिन खुद को प्रभु श्रीराम का भक्त बतया और उस से पहले उत्तर प्रदेश में एक भव्य भगवान विष्णु का मन्दिर बनाने की घोषणा कर डाली ..  

लेकिन इस बीच में भारतीय जनता पार्टी ने भी अपने दांव खेलने जारी रखे और अब खेला है एक और मास्टरस्ट्रोक. एक बार फिर से इतना तो तय हो गया है कि आने वाला चुनाव भगवा रंग में रंगा नजर आएगा . जहाँ कांग्रेस आदि अन्य पार्टियाँ उत्तर भारत में अपनी जमीन तलाश रही हैं वही अब भारतीय जनता पार्टी ने अपने अपेक्षाकृत कमजोर माने जाने वाले दक्षिण भारत में कांग्रेस व् अन्य पार्टियों की जड़े हिलाने शुरू कर दी हैं . मदरसे के लिए अनुदान देने और ओवैसी अदि के प्रभाव में रहने के लिए तमाम आरोप झेल रही TRS पार्टी की मुस्लिम समर्थक छवि को भुनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने चल दिया है अपना दांव .. इस पहले भारतीय जनता पार्टी के प्रभाकर ने कहा, ‘मैंने पहले ही विधानसभा के अंदर कहा है कि तेलंगाना को योगी आदित्‍यनाथ जैसे लीडर की जरूरत है. यह समय बताएगा कि स्‍वामी परिपूर्णानंद कब राजनीति में आएंगे. 

अब बीजेपी की नजर दक्षिण के राज्यों पर है. कर्नाटक में सबसे बड़ा दल होने के बाद भी सरकार बनाने में नाकाम रही बीजेपी तेलंगाना में अपनी पैठ बनाने की कोशिश में जुट गई है. तेलंगाना में बीजेपी का पताका फहराने के लिए आरएसएस ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरीखे नेता को लांच करने की तैयारी में है. तेलंगाना के राजनीतिक पैटर्न को देखते हुए बीजेपी यहां हिंदू वोटों के धुर्वीकरण के प्रयास में जुट गई है. इसके लिए पार्टी ने योगी आदित्यनाथ जैसी छवि वाले साधु से नेता बने परिपूर्णानंद स्‍वामी को मैदान में उतारने जा रही है. भगवाधारी इस नेता को उतारने का मकसद हैदराबाद में एआईएमएम के सांसद असदुद्दीन ओवैसी से भी जोड़कर देखा जा रहा है. ओवैसी जहां मुस्लिमों की राजनीति करते हैं, ऐसे में उन्हें टक्कर देने के लिए परिपूर्णानंद हिंदू चेहरा के रूप में उतारे जा सकते हैं.  भगवाधारी वस्त्र धारण करने वाले परिपूर्णानंद स्‍वामी की लांचिंग के लिए सारी तैयारियां पूरी हो गई हैं. तय कार्यक्रम के मुताबिक बीजेपी, वीएचपी, आरएसएस, बजरंग दल सहित सभी हिंदू संगठनों के लोग एकजुट होकर परिपूर्णानंद स्‍वामी को लांच करेंगे. 

Share This Post

Leave a Reply