टिकट का रेट 20 लाख.. जानिये किस पार्टी के नेता का राज आया सामने जिसको तलब किया है हाईकमान ने

देश में लोकसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है. राजनैतिक दल में टिकट बंटवारे को लेकर मंथन चल रहा है. कोशिश की जा रही है कि जिताऊ प्रत्याशी को ही टिकट दी जाए. लेकिन इस बीच एक बार पुनः भारतीय राजनीति का वो काला चेहरा सामने आया है, जो निश्चित रूप से दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को शर्मशार करने के लिए काफी है. मीडिया सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक़, एक राजनैतिक पार्टी के नेता ने लोकसभा की टिकट का 20 लाख रूपये में सौदा कर दिया. मामला सुर्ख़ियों में आया तो टिकट बेचने वाले नेताजी को हाईकमान ने दिल्ली तलब कर लिया.

मीडिया सूत्रों के हवाले मिली खबर के मुताबिक़, 20 लाख रुपये लेकर लोकसभा का टिकट देने का आरोप उत्तर प्रदेश कांग्रेस के एक बड़े नेता पर लगा है. जिस सीट के लिए कांग्रेस के इन कद्दावर नेता पर रुपये लेकर पैरवी करने का आरोप लगाया गया है, वो पूर्वी यूपी में है. कांग्रेस की दूसरी सूची में वहां से प्रत्याशी घोषित किया गया था. शिकायतकर्ता ने विभिन्न माध्यमों से अपनी शिकायत हाईकमान तक पहुंचाई. पार्टी सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस के ही कई जनप्रतिनिधियों ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच करा लेने का सुझाव हाईकमान को दिया है. कहा तो यहां तक जा रहा है कि जिस प्रत्याशी को उस सीट पर उतारा गया है, वह काफी कमजोर है. जातिगत समीकरण भी उसके ज्यादा अनुकूल नहीं बताए जा रहे हैं.

प्रदेश कांग्रेस के एक बड़े पदाधिकारी ने नाम न छापने के आग्रह के साथ बताया कि जब यह मामला कई माध्यमों से हाईकमान तक पहुंचा तो इसे काफी गंभीरता से लिया गया. शिकायत करने वाला भी कांग्रेस का ही कार्यकर्ता है. वह खुद पहले भी चुनाव लड़ चुका है. शुरुआती फीडबैक में गड़बड़ी की आशंका मिलने पर हाईकमान ने होली के तत्काल बाद शनिवार को शिकायतकर्ता के साथ-साथ नेताजी को भी दिल्ली स्थित कांग्रेस दफ्तर में तलब किया है. इन दोनों से बातचीत के बाद प्रत्याशी से भी बात होगी. सूत्रों की मानें, तो इस मामले में हाईकमान बड़ी कार्रवाई कर सकता है, ताकि आम कार्यकर्ताओं और पार्टी पदाधिकारियों को स्पष्ट संदेश दिया जा सके.

Share This Post