Breaking News:

मुसलमानों के लिए मेनका गांधी का दिया गया बयान उनके बेटे वरुण गांधी से भी ज्यादा चर्चा में आया.. हर तरफ वायरल

2009 के लोकसभा चुनावों का प्रचार काफी जोरों से चल रहा था.. तभी अचानक से एक नाम तेजी से सुर्ख़ियों में आया तथा वो नाम था वरुण गांधी. मेनका गांधी संजय गांधी के पुत्र वरुण गांधी को बीजेपी ने यूपी की पीलीभीत लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया था तथा उन्होंने मुस्लिम समुदाय को लेकर ऐसा बयान दिया, जिससे उनकी छबि एक फायरब्रांड हिंदूवादी नेता की बन गई. इसके बाद उन्हें जेल भी जाना पड़ा लेकिन इसके बाद आज तक वरुण गांधी की छबि एक प्रखर हिंदूवादी नेता की बनी हुई है.

जय श्रीराम: सनातन के आराध्य प्रभु श्रीराम के जन्मोत्सव “श्रीराम नवमी” की संसार के सभी सनातनियों को हार्दिक शुभकामनाएं

आज इस घटना को 10 साल हो चुके हैं तथा अब हलचल मचाई है केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी.. मुस्लिमों को लेकर मेनका गांधी ने एक ऐसा बयान दिया है जो उनके बेटे वरुण गांधी से भी ज्यादा वायरल हो रहा है. बता दें कि केन्द्रीय मंत्री तथा उत्तर प्रदेश की सुल्तानपुर लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी मेनका गांधी का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह मुस्लिम समुदाय के बारे में आक्रामक टिप्पणी करती हुई नजर आ रही हैं. मेनका गांधी के इस बयान के बाद विपक्ष उन पर हमलावर हो गया है.सोशल मीडिया पर भी मेनका गांधी के बयान को लेकर बहस छिड़ी हुई है तथा एक बड़ा वर्ग मेनका गांधी का समर्थन कर रहा है.

13 अप्रैल: 100 वर्ष पहले आज ही हुआ था संसार का सबसे जघन्य हत्याकांड “जलियावाला बाग़ नरसंहार” .. सभी हुतात्माओं को नमन करते हुए ऊधम सिंह को भी श्रद्धांजलि

वायरल वीडियो में चुनाव प्रचार के दौरान मेनका गांधी कहते हुए नजर आ रही हैं कि “मैं जीत रही हूं. लोगों की मदद और प्यार से मैं जीत रही हूं. लेकिन अगर मेरी जीत मुसलमानों के बिना होगी, तो मुझे बहुत अच्छा नहीं लगेगा. क्योंकि इतना मैं बता देती हूं कि दिल खट्टा हो जाता है. फिर जब मुसलमान आता है काम के लिए तो मैं सोचती हूं कि रहने दो, क्या फ़र्क पड़ता है. आख़िर नौकरी एक सौदेबाज़ी भी तो होती है, बात सही है कि नहीं. ये नहीं कि हम सब महात्मा गांधी की छठी औलाद हैं कि हम लोग देते ही जाएंगे, देते ही जाएंगे. और फिर चुनावों में मार खाते जाएंगे. सही है बात कि नहीं. आपको ये पहचानना होगा. ये जीत आपके बिना भी होगी, आपके साथ भी होगी.”

जलियांवाला बाग़ नरसंहार के 100 साल: यकीन नही होगा आपको ऊधम सिंह के खिलाफ गांधी और नेहरु के बयान सुन कर. पक्ष में बोला था वो सिर्फ एक वीर

मेनका गांधी आगे कह रही हैं, “और ये चीज़ आपको सभी जगह फैलानी होगी. जब मैं दोस्ती का हाथ लेकर आई हूं. पीलीभीत में पूछ लें, एक भी बंदे से फ़ोन से पूछ लें कि मेनका गांधी वहां कैसे थीं. अगर आपको कहीं भी लगे कि हमसे गुस्ताख़ी हुई है, तो हमें वोट मत देना. लेकिन अगर आपको लगे कि हम खुले हाथ, खुले दिल के साथ आए हैं. आपको लगे कि कल आपको मेरी ज़रूरत पड़ेगी. ये इलेक्शन तो मैं पार कर चुकी हूं. अब आपको मेरी ज़रूरत पड़ेगी. अब आपको ज़रूरत के लिए नींव डालनी है तो यही वक़्त है. जब आपके पॉलिंग बूथ का नतीजा आएगा और उस नतीजे में सौ वोट निकलेंगे या 50 वोट निकलेंगे और उसके बाद जब आप काम के लिए आएंगे तो वही होगा मेरा साथ…”

श्रीरामनवमी को बता दिया वोट बटोरने का नया हथकंडा.. चुनाव ले रहा नए नए रूप

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post