आज़मगढ़ में बीजेपी प्रत्याशी प्रत्याशी “निरहुआ” के रोड शो पर सपाईयों ने फेंके थे पत्थर.. इस पत्थरबाजी पर अब निरहुआ ने दिया ऐसा जवाब जिससे शर्मशार होंगे समाजवादी

लोकसभा चुनाव 2019 के सियासी रण में उत्तर प्रदेश की आजमगढ़ लोकसभा सीट का मुकाबला काफी दिलचस्प हो गया है. आजमगढ़ सीट से जहाँ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव चुनाव लड़ रहे हैं तो वहीं बीजेपी ने भोजपुरी सुपरस्टार दिनिश लाल यादव “निरहुआ” को उतारकर समाजवादी खेमे में खलबली मचा दी है. निरहुआ के मैदान में आने से सपाई बौखला गये हैं. सपाईयों की बौखलाहट का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है जब 8 अप्रैल को आज़मगढ़ में निरहुआ ने रोड शो किया तो सपाईयों ने निरहुआ के रोड शो पर पत्थर फेंके.

14 अप्रैल- जन्मजयन्ती भीमराव अम्बेडकर जी! जिनके नाम से साजिशन हटाया गया था एक शब्द जातिवादी नेताओं द्वारा, जिसे दोबारा जोड़ा गया योगी राज में

सपाईयों द्वारा रोड शो के काफिले पर पत्थर फेंके जाने का अब बीजेपी प्रत्याशी निरहुआ ने ऐसा जवाब दिया है, जिसे सुन कथित समाजवादी तथा खुद अखिलेश यादव शर्मशार होंगे. बता दें कि निरहुआ के काफिले पर पत्थर फेंकने के इस मामले में पुलिस ने तीन नामजद व 53 अज्ञात के खिलाफ केस भी दर्ज किया था. अब ‘निरहुआ’ ने पत्थरबाजों के लिए मीडिया के माध्यम से आजमगढ़ के जिलाधिकारी से खास गुजारिश की है.

तुष्टीकरण की नीति ने तोड़ा दम.. सम्मानित किये गये वो जवान जिन्होंने बचाया था लोकतंत्र का मान

निरहुआ ने जिलाधिकारी से निवेदन किया है कि रोड शो के दौरान पत्थर फेंकने में पकड़े गए लोगों को छोड़ दें. वह सब मेरे भाई हैं, मेरे दुश्मन नहीं हैं. उन लोगों को बहकाया गया है. निरहुआ ने कहा कि मुझे विश्वास है कि अगर मैं उनके सामने जाऊं तो पत्थर फेंकने वाले लोग मुझे गले लगा लेंगे. निरहुआ’ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना है कि देश का हर बच्चा अपने पैर पर खड़ा हो, किसी को भीख मांगने की जरूरत न हो. इसलिए कौशल विकास योजना से पीएम मोदी युवाओं को सामर्थ्यवान बना रहे हैं. वहीं, दूसरी तरफ गठबंधन के लोग पाकिस्तान से प्रेरित है और देश के बच्चों को पत्थरबाज बनाना चाहते हैं. इसलिए बच्चों को बहला कर रोड शो पर पत्थरबाजी कराई गई.

बलात्कारी पादरी को मिला आजीवन कारावास तो मुस्कुरा उठे तमाम चेहरे.. भारत की एक अदालत ने दिया महान न्याय

निरहुआ ने कहा कि रोड शो के दौरान की गई पत्थरबाजी से डर कर मैं भागने वाला नहीं हूं. यहां लोगों की सेवा और विकास करने आया हूं। निरहुआ ने कहा कि मीडिया के माध्यम से मैं आजमगढ़ के जिलाधिकारी से ये गुजारिश करता हूं कि रोड शो के दौरान पत्थर फेंकने में पकड़े गए लोगों को छोड़ दें. वह सब मेरे भाई हैं, मेरे दुश्मन नहीं हैं. उन लोगों को बहकाया गया है. ‘निरहुआ’ ने कहा कि मुझे विश्वास है कि अगर मैं उनके सामने जाऊं तो पत्थर फेंकने वाले लोग मुझे गले लगा लेंगे.

संसार की सबसे बड़ी महाशक्ति के सबसे बड़े सम्मान से सम्मानित होंगे नरेंद्र मोदी.. संसार भर के नामी नेताओं ने चौंक कर देखा भारत की तरफ

निरहुआ ने कहा कि मैं कहीं बाहर से नहीं आया हूं, आप सभी के पड़ोसी जिले गाजीपुर में ही मेरा घर है. आजमगढ़ में मेरी रिश्तेदारी है. ज्यादातर भोजपुरी फिल्मों की शूटिंग मैंने आजमगढ़ में ही की है. मैं यहां पर जनता की सेवा करने के लिए आया हूं. निरहुआ’ ने कहा कि फैसला जनता को करना होगा कि वो अपने बच्चे को पत्थरबाज बनना चाहते है या सामर्थ्यवान. मुलायम सिंह का नाम लिए बिना निरहुआ ने कहा कि ऐसे नेता को आजमगढ़ ने जीताया है जो जीतने के बाद अपना प्रमाण पत्र तक लेने नहीं आये. जनता का विकास क्या करेंगे. जनता उन्हें जवाब देगी.

ट्विटर के बाद फेसबुक ने जारी की वर्ल्ड टॉप लीडर्स की लिस्ट.. डोनाल्ड ट्रंप को भी पीछे छोड़ा मोदी ने

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post