अब कमलनाथ को बसपा विधायक की धमकी..मंत्री बनाओ वर्ना मध्यप्रदेश में समर्थन वापस


कुछ लोग इसको महागठबंधन के भविष्य के रूप में बता रहे हैं तो कुछ चुनावी स्टंट के रूप में इसको देख रहे हैं ..मात्र 2 विधायको की दरकार थी कांग्रेस को मध्यप्रदेश में और वो दरकार पूरी की थी बहुजन समाज पार्टी ने .. पर यहां हालात विषम होते जा रहे हैं और पूरा दबाव कमलनाथ पर बनता जा रहा है ..मंत्री पद की कुर्सी के लिए जिस खींचातानी की संभावना जताई जा रही थी आखिरकार वो अब सतह पर आती दिख रही है जब मायावती की बहुजन समाज पार्टी समर्थित विधायक ने सीधे तौर पर कमलनाथ और मध्यप्रदेश कांग्रेस व सरकार को चेतावनी देते हुए समर्थन तक वापस ले लेने की गंभीर धमकी दे डाली है ..

मध्य प्रदेश में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी लेकिन बहुमत से दो सीट पीछे रह गई। भारत के नेताओं द्वारा बनाई गई पुरानी कहावत अर्थात  सांप्रदायिक ताकतों को सत्ता से बाहर रखने के लिए बीएसपी और एसपी ने कांग्रेस को समर्थन देने का फैसला किया और राज्य में कमलनाथ की सरकार बन गई। लेकिन बैसाखी पर चल रही सरकार के लिए संकट बरकरार है। कुछ दिनों पहले मायावती ने स्पष्ट शब्दों में कहा था कि बीएसपी कार्यकर्ताओं पर से अगर राजनीतिक मुकदमों को नहीं हटाया गया तो वो समर्थन के बारे में विचार करना पड़ेगा। लेकिन इस दफा बीएसपी विधायक के बगावती सुर सुनाई पड़ रहे हैं।

बीएसपी विधायक रमाबाई अहिरवार का कहना है कि पार्टी ये नहीं चाहती है कि मध्य प्रदेश में कर्नाटक जैसा हालात बने। बीएसपी एमएलए रमाबाई अहिरवार ने दमोह में कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अगर कमलनाथ सरकार उन्हें मंत्री नहीं बनाती है तो वो न केवल उनका विरोध होगा बल्कि दूसरों का भी विरोध होगा। वो हर कोई खुश रखना चाहते हैं। यही नहीं अगर वो कांग्रेस को मजबूत बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं तो उन्हें हम लोगों को मजबूत बनाने पर ध्यान देना होगा। कमलनाथ सरकार को उन्हें मंत्री का पद देना चाहिए।

रमाबाई अहिरवार कहती हैं कि बहन जी यानि बीएसपी मुखिया मायावती की सपोर्ट से कांग्रेस सत्ता में है। हम कमलनाथ सरकार में बीएसपी के दोनों विधायकों के लिए मंत्री पद की मांग करते हैं। हम लोगों ने कर्नाटक की तस्वीर को देखा है, हम नहीं चाहते हैं कि कुछ उस तरह के हालात यहां भी बने।

 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...