आखिर ममता बनर्जी कैसे मान लें कि एयरफ़ोर्स ने पाकिस्तान पर बरसाए हैं बम


ये वो समय था जब संसार भारत के जांबाज़ अभिनन्दन की रिहाई को देख रहा था . ये वो समय था जब पाकिस्तान के ऊपर भारत दुनिया भर में दबाव बनाने पर लगा था और रूस व् अमेरिका जैसी महाशक्तियां भी भारत को पूरा साथ देने का वादा कर रही थीं . लेकिन ठीक उसी समय वायुसेना से माँगा जा रहा था सबूत.

इसकी शुरुआत सबसे पहले समाजवादी पार्टी ने की थी . समाजवादी पार्टी के नेता विनोद कुमार सिंह उर्फ़ पंडित सिंह ने खुल कर कहा था कि ये सब भारत और पाकिस्तान के बीच की मिलीभगत है और भारत की वायुसेना के शौर्य को महज एक ड्रामा बताने की हर सम्भव कोशिश की थी . इसी के साथ भारत में इमरान गैंग भी सक्रिय हो चुकी थी .

लेकिन उन सभी से आगे बढ़ कर ममता बनर्जी ने इस स्ट्राइक का सबूत ही मांग डाला है . ममता बनर्जी ने कहा कि वह शांति की पक्षधर हैं . जबकि उनके खुद के ही राज्य में अवैध घुसपैठी बंगलादेशी अशांति मचाते हैं तो उस पर वो निरुत्तर रहती हैं . आगे ममता बनर्जी ने कहा कि जो युद्ध चुनाव जीतने के लिए किया जा रहा हो वो वैसे किसी भी युद्ध का हम समर्थन नहीं करेंगी . ममता बनर्जी ने अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला दिया। उन्होंने बताया, ‘मैं न्यूयॉर्क टाइम्स पढ रही थी और उसमें लिखा था कि इस ऑपरेशन में कोई नहीं मारा गया और कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में एक मौत की बात कही गई है। इसलिए हम इसकी पूरी जानकारी चाहते हैं।’


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...