प्रकाश अम्बेडकर को फिर धोखा दिया ओवैसी ने.. महाराष्ट्र टूट गया भीम – मीम गठबंधन


झूठे वादों और मजहबी चरमपन्थ के लिए कुख्यात ओवैसी अब एक नई छवि के लिए जाना जाएगा और वो छवि है धोखे बाजी की.. प्रकाश अम्बेडकर को ये उस दिन ही समझ लेना था जब उसने भगवान बुद्ध के मन्दिर में अंदर तक जाने से मना कर दिया था.. फिर भी सत्ता और राजनैतिक स्वार्थ में प्रकाश अम्बेडकर ने ओवैसी पर आगे ये सोच कर विश्वास किया कि समय रहते सब सही हो जायेगा , पर ओवैसी ने समय रहते प्रकाश अम्बेडकर को ऐसा समय दिखाया जिसकी उन्होंने कल्पना भी नहीं की थी .

प्राप्त जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) ने प्रकाश अंबेडकर की वनचित बहुजन अगाड़ी (VBA) के साथ अपने गठबंधन को तोड़ेंने का फैसला किया है। बताया जाता है किआगामी चुनाव में VBA और MIM एक साथ चुनाव लड़ने की घोषणा की थी । MIM ने 80 सीटों पर चुनाव लड़ने का प्रस्ताव VBA पास भेजा था। इसके जवाब में प्रकाश आम्बेडकर ने सिर्फ 4 सीट देने की बात कही थी।

एआईएमआईएम नेता गफार कादरी ने इस संदर्भ में पुणे में 5 सितंबर को प्रकाश आंबेडकर के साथ मीटिंग की थी लेकिन वे 8 सीटें देने पर ही माने और एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) को भी उन्होंने 8 ही सीटें देने का संदेश भेज दिया. इसी वजह से दोनों दलो में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए बात नहीं बनी. एआईएमआईएम (AIMIM) के मुताबिक उसने पिछले विधानसभा चुनाव में 24 सीटों पर चुनाव लड़ा था.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...