Breaking News:

ISIS की नई व्याख्या करने के बाद अब राहुल गाँधी ने RSS को बताया देश के लिए खतरा

जिसका आंकलन पहले ही किया जा रहा था वो अब सामने देखने को मिल रहा है . पहले से ही कुछ राजनेताओं ने कहा था की राहुल गाँधी का मन्दिर आदि का रूप केवल गुजरात और कर्नाटक चुनावों तक ही सीमित है और वो सब कुछ सामने देखने को मिल रहा है . राहुल गाँधी के ISIS पर दिए बयान पर अभी शोर और राजनैतिक तूफ़ान थमा नही था की अचानक ही उन्होंने अपनी उसी विचारधारा के तहत एक नया बयान जारी कर दिया है जिसमे विदेशों में भी अपनी राष्ट्रवादी विचारधारा के लिए अतिप्रसिद्ध राष्ट्रीय स्वय सेवक संघ को निशाने पर लिया है और देश के लिए खतरनाक बताया है . 

विदित हो की विदेश की भूमि पर भी अपनी बयानबाज़ी को आगे जारी रखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर निशाना साधते हुए कहा कि वे भारत को तोड़ने और नफरत फैलाने का काम कर रहे हैं। राहुल ने गुरुवार को बर्लिन में इंडियन ओवरसीज कांग्रेस को संबोधित करने के दौरान यह बयान दिया। तकनीकी गड़बड़ी के कारण उनके संबोधन को सीधा प्रसारित नहीं किया जा सका। 

भारतीय मूल के सांसदों के साथ बातचीत करने के दौरान राहुल ने कहा,”वर्तमान में भारत में सत्तारूढ़ सरकार भाजपा और आरएसएस देश को तोड़ना चाहते हैं और नफरत फैलाना चाहते हैं। कांग्रेस पार्टी ऐसा नहीं होने देगी।” राहुल ने कहा कि भारत की ताकत धर्म, समाज और जाति के विभिन्न वर्ग के बावजूद हर नागरिक के विचारों को सुनने में निहित है। राहुल गाँधी के इस बयान पर भी तमाम सन्गठन तीखी प्रतिक्रिया दे रहे हैं . राहुल गाँधी के ISIS वाले बयान पर अभी कोहराम थमा भी नहीं था की अचानक ही RSS के खिलाफ ऐसा बयान देने के बाद राजनैतिक घमासान तेज होने की सम्भावना है . 

Share This Post