अब केरल कांग्रेस में मच गई भगदड़.. पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने ओढ़ लिया भगवा तथा बोला- “भारत मांगे नमो दोबारा”

लोकसभा चुनाव 2019 के दो चरणों का मतदान हो चुका है तथा कल 23 अप्रैल को तीसरे चरण के लिए वोटिंग होगी. कहा जाए तो देश की सत्ता का ये सियासी रण पूरे चरम पर है. विपक्ष जहाँ पीएम मोदी तथा बीजेपी को हराने को लालायित है तो वहीं सत्तारूढ़ बीजेपी तथा पीएम मोदी दोबारा सत्ता में आने को लेकर पूरी ताकत लगाये हुए हैं. मुख्य विपक्षी कांग्रेस किसी भी हालात में बीजेपी को रोकना चाहती है लेकिन अभी तक ये मुश्किल नजर आ रहा है क्योंकि कांग्रेस अपने घर को संभालने में नाकाम दिख रही है. तमाम कांग्रेसी नेता पाला बदलकर बीजेपी के साथ जा चुके है.

राहुल गांधी के साथ लगातार दिख रहे पूर्व फौजी अफसर लेफ्टिनेंट जनरल डी एस हुड्डा से जुडी ये सनसनीखेज घटना नहीं जानते होंगे आप.. बर्बाद हो गये थे कई फौजी अधिकारी व् सैनिक

लोकसभा चुनाव 2019 के सियासी रण के बीच अब केरल कांग्रेस में भगदड़ मच गई है. खबर के मुताबिक़, कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. एस कृष्णा कुमार ने कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है. उन्होंने शनिवार को भाजपानेता शहनवाज हुसैन और अनिल बलूनी की मौजूदगी में भाजपा ज्वाइन कर ली है तथा प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी को दोबारा देश की सत्ता के शिखर पर बैठाने का संकल्प लिया है.

देश में तीसरे चरण का मतदान जारी… पीएम मोदी ने माँ का आशीर्वाद लेने के बाद भारतमाता की जय तथा वन्देमातरम के नारों के बीच डाला वोट

बीजेपी जॉइन करने के बाद डॉ. एस कृष्णा कुमार ने कहा, ‘एक विकासात्मक कार्यकर्ता के रूप में मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ज्ञान की गहराई और राजनीतिक इच्छा शक्ति की सराहना की है. मैंने अपना बाकी जीवन नरेंद्र मोदी के सैनिक के रूप में समर्पित करने का फैसला किया है.’ साथ ही कहा कि मुझे लगता है कि पीएम मोदी को पांच साल के लिए नहीं, बल्कि दस साल के लिए लोग जनादेश दें, ताकि वह भारत को विश्व में टॉप पर ले जाएं.’

खुलने लगी श्रीलका आतंकी हमले की परतें.. सामने आ रहा पाकिस्तानी कनेक्शन

1963 बैच के आईएएस अधिकारी तथा पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. एस कृष्णा कुमार ने कहा कि वह यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व के खिलाफ थे. उन्होंने कहा, ‘मैं तीन बार कांग्रेस सांसद रहा हूं, लेकिन यूपीए के समय में मैं सोनिया गांधी के नेतृत्व और अब मैं उनके बेटे के नेतृत्व के खिलाफ हूं. मैं राजीव गांधी का काफी करीबी था, लेकिन मुझे लगता है कि उनके बाद देशभक्त प्रधानमंत्री को इस देश को चलाना चाहिए.’ कुमार ने साथ ही आरोप लगाया कि यूपीए चेयरपर्सन के पास भारतीय विरासत के बारे में कोई जानकारी नहीं है और ना ही देश के प्रति उनमें कोई प्रेम है.

पीएम मोदी के आगे दुनिया नतमस्तक.. सात अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार पाने वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री

डॉ. एस कृष्णा कुमार ने कहा कि मुझे पता है कि अनुभव के कारण मैं हाशिए पर था क्योंकि मैं उसके आसपास के लोगों का हिस्सा नहीं था जिन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए हैं. जब नरसिम्हा राव जी का अहमद पटेल और सोनिया गांधी की साजिश की वजह से सम्मानजनक अंतिम संस्कार नहीं किया गया तो मैं दुखी था. उन्होंने कहा कि वर्तमान में कांग्रेस नेतृत्व विहीन है तथा देश को मोदी जैसे ही प्रधानमन्त्री की जरूरत है जो दुनिया की आंख में आँख डालकर बात करता है तथा देश को मजबूती के साथ प्रगति के पथ पर ले जा रहा है. बता दें कि डॉ. एस कृष्णा कुमार ने कहा कुमार केरल की कोल्लम लोकसभा सीट से तीन बार कांग्रेस सांसद तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री रहे हैं. उनके आने से केरल में बीजेपी को मजबूती मिलेगी.

एक चेतावनी भारत ने पहले ही दी थी सेक्यूलर श्रीलंका को.. लेकिन अब वो आधिकारिक रूप से बोला कि- “काश हम मान लिए होते”

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post