Breaking News:

राजनीति में वो कौन सा ओलंपिक है जिसकी चर्चा मोदी ने आपने बयान में की

2019 के लोकसभा चुनावों की घोषणा अभी चुनाव आयोग ने नहीं की है लेकिन उससे पहले सी देश में चुनावी माहौल बनने लगा है. सत्ता पक्ष तथा विपक्ष के महारथी इस चुनावी महाभारत के लिए अभी से मैदान में आ डटे हैं. एकतरफ जहाँ पीएम मोदी तथा बीजेपी दोबारा सत्ता में आने के प्रति आशान्वित दिख रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ सत्ता में आने को लालायित कांग्रेस सहित सयुंक्त विपक्ष पीएम मोदी पर ताबड़तोड़ हमले कर रहा है.

विपक्ष के इन्हीं हमलों पर प्रधानमन्त्री मोदी ने अलग ही अंदाज में जवाब दिया है. पूर्वोत्तर के राज्य त्रिपुरा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को विपक्ष पर यह कहते हुए पलटवार किया कि ‘महामिलावट वालों’ का मुख्य काम उनका मजाक उड़ाना है और ऐसा लगता है कि सभी उन्हें गालियां देने के ओलंपिक में प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा, ”महामिलावट वालों का काम बस मोदी को गालियां देना है. ऐसा लगता है कि मोदी को गालियां देने का ओलंपिक चल रहा है.’ पीएम मोदी ने कहा, ‘आगामी लोकसभा चुनाव के नतीजे बताएंगे कि लोगों से झूठ बोलने का मतलब क्या होता है.’

प्रधानमंत्री ने वाम मोर्चा का नाम लिए बगैर उसपर हमला किया और कहा कि वे जब राज्य में सत्ता में थे तो उन्होंने असंगठित क्षेत्र या किसानों के लिए कुछ करने में कोई रूचि नहीं दिखाई.  उन्होंने कहा,’अब, पहली बार त्रिपुरा में भाजपा सरकार के तहत धान न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदा जा रहा है. इसके अलावा, सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू किया गया है.’ उन्होंने कहा,’जिस त्रिपुरा राज्य को जलसीमा विहीन क्षेत्र के नाम पर विकास से वंचित किया गया था, उसे दक्षिण पूर्व एशिया का अब प्रवेश द्वार बनाया जा रहा है.’

Share This Post