सबको एकता का संदेश देने के लिए जमा हुई उन सेकुलर नेता जी की सभा में ही एक दूसरे को उठा कर पटकने लगे लोग. दुनिया ने देखा कथनी करनी में फर्क


नेताजी ने सभा बुलाई थी एकता का संदेश देने के लिए लेकिन उनकी सभा में जो हुआ उसने उनकी एकता के सभी दावों की सरेआम धज्जियां उड़ा दीं. नेता जी की सभा में एकता का संदेश देने के लिए आये पार्टी कार्यकर्ता आपस में ही भिड़ गये. पार्टी कार्यकर्ताओं में जमकर जूतमपैजार हुई, कुर्सियां चली. स्थिति इतनी ज्यादा बिगड़ी इनको रोकने तथा स्थिति को नियंत्रण में लेने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा.

मामला बिहार के सहरसा के सिमरी बख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में राजद नेता तेजस्वी यादव की चुनावी रैली का है. राजद की यह चुनावी सभा सिमरी बख्तियारपुर उच्‍च विद्यालय में आयोजित की गई थी, जिसमें तेजस्वी यादव भी पहुंचे थे. बता दें सिमरी बख्तियारपुर में होने वाले उपचुनाव में महागठबंधन की ओर से राजद ने अपना उम्‍मीदवार उतारा है. वहीं, वीआइपी ने भी यहां से अपना उम्‍मीदवार दिया है.

रविवार को तय समय पर तेजस्‍वी यादव पहुंच गए, तभी एक युवक मंच पर चढ़ गया और तेजस्‍वी यादव को माला पहनाने लगा, लेकिन पुलिस ने माला पहनाने वाले को मंच पर से उतार दिया. इसके बाद युवक के समर्थक आक्रोशित हो उठे और हंगामा कर दिया. उधर दूसरे गुट ने उनका विरोध किया जिसके बाद बात बढ़ गई. तेजस्वी के सामने ही राजद कार्यकर्ता एक-दूसरे पर हमला करने लगे, कुर्सियां फेंकने लगे. इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया जिसके बाद हालात पर काबू पाया जा सका. इस दौरान कई लोगों को चोट भी लगी.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...